राजनीतिराष्ट्रीय

ओवैसी की अयोध्या फैसले पर टिप्पणी को लेकर अब्बास नकवी ने दिया यह बयान

इस फैसले को ओवैसी ने बताया था तथ्यों के ऊपर आस्था

नई दिल्ली:सुप्रीम कोर्ट में चीफ जस्टिस रंजन गोगोई के नेतृत्‍व में पांच जजों की संवैधानिक पीठ ने अयोध्‍या केस में ऐतिहासिक फैसला सर्वसम्‍मति यानी 5-0 से सुनाते हुए कहा कि विवादित जमीन पर राम मंदिर बनेगा.

वहीं इस फैसले के बाद ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुसलमीन (AIMIM) प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी की टिप्पणी पर अल्पसंख्यक मामलों के केंद्रीय मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी ने कहा कि ‘कुछ लोग तालिबानी मानसिकता के रोग से पीड़ित हैं.’

बता दें सुप्रीम कोर्ट द्वारा शनिवार को अयोध्या विवाद राम मंदिर-बाबरी मस्जिद पर फैसला सुनाए जाने के बाद एआईएमआईएम प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी ने इसे ‘तथ्यों के ऊपर आस्था की एक जीत’ बताया था.

कुछ लोग तालिबानी मानसिकता के रोग से पीड़ित

नकवी ने बताया, “कुछ लोग तालिबानी मानसिकता के रोग से पीड़ित हैं. इन लोगों को देश के संविधान या न्यायपालिका पर कोई भरोसा नहीं है.” नकवी ने कहा, “इन लोगों को समझना चाहिए कि देश किसी भी व्यक्ति को हमारी शांति, सद्भाव और भाईचारे को बिगाड़ने की अनुमति नहीं देगा.”

इससे पहले नकवी ने लोगों से अयोध्या के फैसले के बाद शांति और सद्भाव बनाए रखने का आग्रह किया था. उन्होंने कहा था कि शांति और सद्भाव भारत की सदियों पुरानी विरासत का हिस्सा रहे हैं.

नकवी ने अपने ट्विटर हैंडल पर साझा किए एक वीडियो संदेश में कहा, “अयोध्या पर फैसला आ चुका है. हमें इसे किसी के लिए जीत या हार के रूप में नहीं देखना चाहिए. इस कानूनी फैसले को नुकसान के रूप में देखने से या जीत के जश्न से बचना चाहिए.”

ओवैसी ने कहा था कि “सुप्रीम कोर्ट सर्वोच्च है, लेकिन कभी गलती न करने वालों (इन्फैलिब्ल) में से नहीं है.” इसके साथ ही उन्होंने इस फैसले को तथ्यों के ऊपर आस्था की एक जीत बताया था.

अयोध्या मामले में सुप्रीम कोर्ट के फैसले पर प्रतिक्रिया देते हुए ओवैसी ने आशंका व्यक्त की थी कि संघ परिवार अब मथुरा और काशी सहित अन्य मस्जिदों को निशाना बनाएगा. हैदराबाद के सांसद ओवैसी ने आगाह किया कि देश हिंदू राष्ट्र की राह पर आगे बढ़ रहा है.

Tags
Back to top button