सोनीपत बम विस्फोट के दोषी अब्दुल करीम टुंडा पर अदालत परिसर में हमला

करनाल: हत्या के एक मामले में दोषी करार दिए गए एक व्यक्ति ने सोमवार को यहां अदालत परिसर में अब्दुल करीम टुंडा पर हमला कर दिया जिसे 1996 के सोनीपत बम विस्फोट मामले में दोषी करार दिये जाने के बाद उम्रकैद की सजा सुनाई गई है.

पुलिस ने बताया कि जोगिन्दर सिंह ने पिछले साल 30 नवंबर को 75 वर्षीय टुंडा पर हमला किया था और उसे आज इसी मामले में सुनवाई के लिये अदालत लाया गया था.

सिविल लाइन पुलिस थाने के प्रभारी मोहन लाल ने कहा कि जब टुंडा को कोर्ट-रूम से बाहर ले जाया जा रहा था, तभी जोगिन्दर सिंह ने खुद को पुलिस की गिरफ्त से छुड़ाकर उसके ऊपर हमला कर दिया.

उन्होंने बताया कि जोगिन्दर सिंह यहां करनाल जेल में हत्या के एक मामले में उम्रकैद की सजा काट रहा है, जबकि टुंडा गाजियाबाद जेल में कैद है.

सोनीपत की एक अदालत ने इस माह की शुरुआत में उसे 1996 के सोनीपत में दोहरे बम विस्फोट मामले में आजीवन कारावास की सजा सुनाई थी.

इस बम विस्फोट में कम से कम 15 लोग घायल हो गए हैं. टुंडा को भारत-नेपाल सीमा के पास बनासा से 16 अगस्त 2013 को गिरफ्तार किया गया था.

वह देश में कई बम विस्फोट करने का संदिग्ध है. इसमें से कुछ मामले में सुनवाई चल ही रही है.

advt

Back to top button