कास्टिंग काउच के बारे में कृति सेनन का ये है कहना…

नई दिल्ली: बॉलीवुड अभिनेत्री कृति सैनन का कहना है कि उन्होंने कभी कास्टिंग काउच का सामना नहीं किया।

कृति ने बॉलीवुड में अपने करियर की शुरूआत वर्ष 2014 में प्रदर्शित फिल्म हीरोपंती से की थी।

इसके बाद कृति ने दिलवाले , राबता और हाल ही में प्रदर्शित फिल्म बरेली की बर्फी में काम किया।

कृति सैनन का कहना है कि उनका फिल्म जगत में कोई भी ‘गॉडफादर’ नहीं है और उन्होंने कभी भी ‘कास्टिंग काउच’ का सामना नहीं किया।

कृति सैनन ने कहा, मैं इस पेशे में आने से पहले इंजीनियर थी और इंजीनियरिंग से एकिंटग क्षेत्र में आना बहुत बड़ा बदलाव रहा।

मुझे लगता था कि यह बहुत बड़ा सपना है। मुझे लगता है कि कास्टिंग काउच जैसी कोई चीज नहीं होती, सिर्फ बॉलीवुड में ही नहीं बल्कि कहीं भी।

सौभाग्य से मैंने कभी इसका सामना नहीं किया। मैं एक एजेंसी से जुड़ी और भगवान की कृपा से मेरे साथ इस तरह का कुछ भी नहीं हुआ।

कृति सैनन ने कहा , असफलता से मत डरिए। असफलता आपको मजबूत बनाती है। किसी को यह कहने का मौका मत दीजिए कि आप नहीं कर सकते।

जब आप फिल्म की समीक्षाएं पढ़ते हैं, फिर चाहे उस फिल्म में किसी लड़की की छोटी भूमिका हो या बड़ी।

लोग हीरो और विलेन के बारे में ही बात करते हैं और हीरोइन के बारे में ज्यादा नहीं लिखते। अब इस मानसिकता में बदलाव आ रहा है। लोग अब महिला प्रधान फिल्मों को पसंद कर रहे हैं।

advt
Back to top button