राष्ट्रीय

देश छोड़ दूंगा लेकिन वंदे मातरम नहीं गाऊंगा: अबू आजमी

मुंबई। राष्ट्रीय गीत को लेकर पूरे देश में एकबार फिर से बवाल शुरू हो गया है। मद्रास हाईकोर्ट के फैसले के बाद शिवसेना ने महाराष्ट्र में तमिलनाडु की तरह वंदे मातरम गाना अनिवार्य करने की मांग की है। शिवसेना की मांग पर सपा नेता अबू आजमी ने कहा कि देश से बाहर निकाल दो लेकिन वंदे मातरम नहीं गाऊंगा। उनके इस बयान के बाद विवाद शुरू हो गया है।

सच्चा मुसलमान वंदे मातरम कभी नहीं गाएगा

अबू आजमी ने कहा कि एक सच्चा मुसलमान कभी भी वंदे मातरम नहीं गाएगा। उन्होंने कहा कि मैं वंदे मातरम का सम्मान करता हूं लेकिन मेरा मजहब इसे गाने की इजाजत नहीं देता है। मुझे चाहे जेल में डाल दो या फिर देश से बाहर निकाल दो लेकिन हम वंदे मातरम नहीं गाएंगे।

मद्रास हाईकोर्ट ने वंदे मातरम गाना जरूरी किया
25 जुलाई को मद्रास हाईकोर्ट ने आदेश दिया था कि स्कूलों, कॉलेजों और सरकारी संस्थानों में एक हफ्ते में एकबार वंदे मातरम गाना जरूरी है। कोर्ट ने इसके लिए सोमवार और शुक्रवार, दो दिन भी सुझाया। कोर्ट ने ये भी कहा कि वंदे मातरम गाना जबरदस्ती नहीं है लेकिन जो नहीं गाएंगे उन्हें इसकी वजह बतानी होगी। मद्रास हाईकोर्ट के फैसले का सपा और AIMIM जैसी पार्टियां विरोध कर रही है।

Tags
Back to top button