क्राइम

एसीबी ने कलेक्टर स्टेनो संतोष पांडे को ₹30000 की रिश्वत लेते हुए रंगे हाथ पकड़ा

कुजूर ने पंद्रह-पंद्रह हजार रुपए दो किस्तों में देने की बात कही

कोरिया: बिलासपुर से आई एंटी करप्शन ब्यूरो की टीम ने कलेक्टर कार्यालय में छापा मारकर कलेक्टर स्टेनो संतोष पांडे को ₹30000 की रिश्वत लेते हुए रंगे हाथ पकड़ लिया है।

जानकारी के मुताबित प्रार्थी उमेश कुजूर लैब टेक्नीशियन को सरकारी आवास आवंटन कराने के नाम पर स्टेनो संतोष पांडेय द्वारा ₹30000 की मांग की गई थी। जिस पर वह कुजूर ने पंद्रह-पंद्रह हजार रुपए दो किस्तों में देने की बात कही।

लेकिन स्टेनो द्वारा इंकार करते हुए एक मुश्त ही 30 हजार ₹ देने की बात कहा गया। इन सब बात की रिकॉर्डिंग प्रार्थी उमेश कुजूर द्वारा रिकॉर्ड कर एंटी करप्शन ब्यूरो में 9 दिसम्बर को शिकायत के साथ दिया गया। इसके बाद 19 दिसंबर को सन्तोष पांडेय स्टेनो को पैसे देने की बात तय की गई।

एंटी करप्शन ब्यूरो की टीम बुधवार की देर रात ही हरगांव हाउस में आकर रुक गई गुरुवार 19 दिसंबर की सुबह कलेक्टर कार्यालय में जाकर जैसे उमेश कुजूर ने पैसे दिए और कलेक्टर ऑफिस के स्टेनो संतोष पांडे ने उस पैसे को टेबल की दराज में रखा है वैसे ही एंटी करप्शन टीम झगड़ा कर स्टेनो के चेंबर में घुसकर उसे पैसों के साथ रंगे हाथ गिरफ्तार कर लिया।

इस दौरान एंटी करप्शन टीम के इंस्पेक्टर प्रमोद, पीके शुक्ला एवं गवाह के रूप में राजपत्रित अधिकारी डॉ अनूप चटर्जी एवं उद्योग विभाग के सतीश पटेल उपस्थित रहे।

Tags
Back to top button