ADG GP सिंह के घर पर ACB की छापेमारी जारी, 10 करोड़ से अधिक की सम्पत्ति का खुलासा

2 किलो सोना समेत 16 लाख रूपये नकद बरामद

रायपुर:छत्तीसगढ़ में किसी आईपीएस अफसर के खिलाफ पहली बार कार्रवाई करते हुए एंटी करप्शन ब्यूरो(ACB) द्वारा प्रदेश के मुख्य ADGP जीपी सिंह के 10 से अधिक ठिकानों पर गुरुवार सुबह 6 बजे दबिश देकर छापा मारा कार्यवाही की गई.

तीसरे दिन की कार्रवाई में 10 करोड़ से अधिक की सम्पत्ति का खुलासा हुआ है. 2 किलो सोना समेत 16 लाख रूपये नगद बरामद किए गए हैं. जीपी सिंह के सरकारी बंगले से लेकर अन्य 15 ठिकानों से करप्शन से भरे कई दस्तावेज एकत्रित किए गए हैं. इनमें बेनामी संपत्ति समेत विदेशों में कई खातों का जिक्र है.

10 करोड़ से अधिक की सम्पत्ति का खुलासा

पहले दिन की कार्रवाई में ACB को ADG GP सिंह के घर से बेशुमार दौलत के दस्तावेज मिले थे. 75 से अधिक बीमा पॉलिसी, बैंकों में जमा 1 करोड़ रुपए की गिनती, कई मकानों, जमीनों में निवेश के कागज भी मिले हैं. ACB को GP सिंह के घर से बैंकों में बेहिसाब खातों के पासबुक मिले हैं. इतना ही नहीं GP सिंह के घर से डेढ़ करोड रुपये के म्यूच्यूअल फंड और शेयर के इन्वेस्टमेंट के दस्तावेज भी बरामद किए गए हैं.

ACB के मुताबिक फंड्स और शेयर के दस्तावेज में रकम कई करोड़ रुपए तक पहुंचने की जानकारी है. ओडिशा में संपत्ति, कंस्ट्रक्शन के काम में इस्तेमाल होने वाले आधा दर्जन वाहन, कई बैंक अकाउंट्स, 75 से अधिक बीमा पॉलिसी के सबूत मिले थे. इसके बाद गुरुवार शाम को जीपी सिंह पर FIR दर्ज की गई.

5 करोड़ की चल-अचल संपत्ति का खुलासा

ACB को दूसरे दिन की कार्रवाई में वाहनों के कागजात भी मिले हैं. इसमें कंस्ट्रक्शन से जुड़े वाहन, मिक्सर मशीन, ट्रक और अन्य मशीन शामिल हैं. ACB की टीम संपत्ति, वाहनों, बैंक खाता, बीमा पॉलिसियों की तादाद देखकर हैरान है. कई बीमा पॉलिसी जीपी सिंह, उनकी पत्नी और उनके बेटे के नाम पर मिली है. इसकी संख्या बढ़ सकती है.

इन पॉलिसी के प्रीमियम के रूप में ही लाखों रुपए सालाना बीमा कंपनियों को दिए जाते हैं. टीम बीमा कंपनियों से प्रिमियम का हिसाब-किताब ले रही है. दिनभर के जांच के बाद लगभग 5 करोड़ की चल-अचल संपत्ति का खुलासा हुआ था.

बता दें कि गुरुवार सुबह 6 बजे ACB और EOW की जांच टीम जीपी सिंह के सरकारी बंगले में दाखिल हुई थी. करीब 75 घंटे की छापेमार कार्रवाई में करोड़ों रुपये बरामद किए गए. ACB की टीम ने GP सिंह पर धारा 13 (1)बी, 13 (2) भ्रष्टाचार निवारण अधिनियम यथा संशोधित 2018 के तहत केस पंजीबद्ध किया था.

इसके बाद जीपी सिंह के काली कमाई का परत दर परत खुलासा होते गए. एंटी करप्शन ब्यूरो की टीम उन खातों की लिस्टिंग, पैसा कहां से आया किसने दिया, इन पहलुओं की जांच कर रही है. अब ये सारे दस्तावेज करोड़ों रुपये के काली कमाई की सबूत दे रहे हैं.

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button