छत्तीसगढ़राज्यराष्ट्रीय

मौसम विभाग के मुताबिक इन इलाकों में हल्की व तेज बारिश की आशंका

पंजाब, हरियाणा और राजस्थान के कुछ हिस्सों में हो सकती है हल्की बारिश

नई दिल्ली: उत्तर भारत में उत्तराखंड, हिमाचल प्रदेश और पंजाब के साथ मौसम विभाग ने पूर्वी राजस्थान, पूर्वी मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़, ओडिशा, महाराष्ट्र, कर्नाटक और केरल के साथ पूर्वोत्तर भारत व कई जगहों पर हल्की से मध्यम बारिश के साथ एक-दो स्थानों पर तेज़ बारिश की सम्भावना जताई है.

राष्ट्रीय राजधानी और उत्तर प्रदेश के कुछ हिस्सों में शनिवार को गरज के साथ बारिश हुई जबकि राजस्थान, पंजाब और हरियाणा के भी कुछ क्षेत्रों में हल्की बारिश दर्ज की गई. वहीं, बारिश के कारण जलभराव के चलते दिल्ली के कई इलाकों में लोगों को यातायात जाम का सामना करना पड़ा.

दिल्ली का रहा ये हाल

दिल्ली में मौसम के आधिकारिक आंकड़े देने वाली सफदरजंग वेधशाला में 1.8 मिलीमीटर बारिश दर्ज की गई. मौसम विभाग के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि लोधी रोड पर 2.4 मिलीमीटर और रिज पर 1.2 मिलीमीटर बारिश हुई. पालम और आया नगर में बारिश नहीं हुई.

उधर, उत्तर प्रदेश के विभिन्न इलाकों में शनिवार को कहीं तेज तो कहीं हल्की बारिश हुई.मौसम विभाग के अनुसार, रविवार को भी प्रदेश के पूर्वी और पश्चिमी इलाकों में अनेक स्थानों पर कहीं तेज और कहीं हल्की बारिश हो सकती है.

मौसम विज्ञान विभाग ने पंजाब, हरियाणा और राजस्थान के कुछ हिस्सों में अगले 24 घंटे में हल्की से मध्यम बारिश का पूर्वानुमान जताया है. उत्तर प्रदेश में आठ सितंबर को गरज के साथ छींटे पड़ने के साथ ही बारिश की संभावना है.

राजस्थान के छत्तरगढ़, बीकानेर में 70 मिलीमीटर दर्ज

पंजाब और हरियाणा के अधिकतर हिस्सों में अधिकतम तापमान सामान्य के आसपास रहा और कुछ जगह बारिश भी हुई. इस बीच, राजस्थान के कई इलाकों में मानसून की बारिश का दौर शनिवार को भी जारी रहा और छत्तरगढ़ में 70 मिलीमीटर बारिश हुई. मौसम विभाग के प्रवक्ता ने बताया कि बीते चौबीस घंटे में राज्य में अनेक स्थानों पर हल्की से मध्यम बारिश दर्ज की गयी. सबसे अधिक बारिश छत्तरगढ़, बीकानेर में 70 मिलीमीटर दर्ज की गयी.

उन्होंने बताया कि अजमेर के जवाजा में छह सेंटीमीटर, भीलवाड़ा के बानेड़ा में पांच सेंटीमीटर, सवाई माधोपुर के खंडार में पांच सेंटीमीटर, जोधपुर के बाप व नागौर के खींवसर में छह-छह सेंटीमीटर बारिश हुई.

मौसम विभाग के अनुसार शनिवार दिन में श्रीगंगानगर में 10 मिमी बारिश हुई. इसके अलावा फलौदी, चुरू, बीकानेर व पिलानी में भी बारिश हुई. जहां तक दिन में सबसे अधिक अधिक तापमान का सवाल है तो यह बीकानेर में 34.2 डिग्री सेल्सियस व कोटा में 34.1 डिग्री सेल्सियस रहा.

विभाग के प्रवक्ता ने बताया कि आंकड़ों के अनुसार राजस्थान में मौजूदा मानसून सत्र में अब तक कुल मिलाकर सामान्य से 11 प्रतिशत अधिक वर्षा दर्ज की गई है. पूर्वी राजस्थान में सामान्य वर्षा हुई जबकि पश्चिमी राजस्थान में सामान्य से 31 प्रतिशत अधिक वर्षा दर्ज की गई है.

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button