वास्तु के अनुसार दें घर में एस्ट्रो टच खूबसूरती के साथ बनी रहेगी खुशहाली

घर को सजाने के लिए अलग-अलग तरह की चीज़ों का करें इस्तेमाल

आजकल शायद ही ऐसा कोई व्यक्ति होगा जिसे अपना आशियाना यानि घर सजाने का शौक नहीं होगा। हर कोई अपने घर को सजाने के लिए अलग-अलग तरह की चीज़ों का इस्तेमाल करता है।

लेकिन ज्यादातर लोगों को पता नहीं होता कि आखिर कौन सी चीज़ घर में मंगल लाती है और कौन सी अमंगल। इसलिए कहा जाता है कि घर की सजावट से पहले ज्योतिष की कुछ बातों को ध्यान में रखना चाहिए। तो आइए आज हम आपको बताते हैं कि कैसे एस्ट्रो टच देकर आप अपने घर को खूबसूरत के साथ-साथ खुशहाल भी बना सकते हैं।

वास्तु के अनुसार बच्चों के कमरे में हमेशा वाइट रंग करना अच्छा होता है। इसके अलावा कमरा अगर लड़के का हो तो उसमें नीला रंग और लड़की के कमरे में गुलाबी रंग अच्छा होता है। ज्योतिष के अनुसार राशि के अनुसार भी रंगों का सिलेक्शन किया जा सकता है।

बेडरूम व ड्रॉइंग रूम में हल्के व कूल रंग का इस्तेमाल करें। जैसे हल्का भूरा या सफे़द। ज्योतिष शास्त्र में इस रंग को दिमाग को शांति देने वाला बताया गया है।

आजकल रुम के चारों दीवारों में से एक दीवार पर ब्राइट रंग या ग्लास का वर्क काफी चल रह है। ज्योतिष के मुताबिक यह सिस्टम भी एस्ट्रो को सूट करता है। आप जिस कमरे में अपना सबसे महत्वपूर्ण काम करते हैं वहां मनपसंद और एस्ट्रो के अनुसार चमकदार कलर इस्तेमाल करना अच्छा माना जाता है।

खूबसूरत वॉल पेपर घर को अच्छा लुक देते हैं। लेकिन ज्योतिष के अनुसार इन वॉल पेपर का शुभ और मंगलकारी होना ज़रूरी है।

घर का माहौल खुशनुमा बनाने का सबसे अच्छा तरीका है घर के हर कोने में पौधे लगाएं। पौधों से पॉजिटिव एनर्जी मिलती है। इससे कमरों में ऑक्सीजन की भी पर्याप्त मात्रा मिल जाती है और इससे मूड भी अच्छा रहता है।

घर के अंदर एक मिनी बगिया विकसित कर सकते हैं, जिसमें कमल के फूल व फिशेस हों। यह देखने में सुंदर और अट्रैक्टिव लगता है। साथ ही एस्ट्रो के अनुसार घर बैठे मछलियों की सेवा भी हो जाएगी।

शोपीसेस के अलावा पूरी तरह से कमरों को पौधों से डेकोरेट कर सकते हैं। हरी-भरी बगिया घर के अंदर ही होगी तो सोचिए कितना कूल लगेगा।

Back to top button