फर्जी हस्ताक्षर कर मकान टैक्स व बिजली कर वसूल रहे लेखापाल व सरपंच

प्रकाश यादव:

बलौदाबाजार: बलौदाबाजार जिला के ग्राम पंचायत पवनी में नवीन राशनकार्ड वितरण करने के समय राशनकार्ड धारियों से मकान टेक्स व बिजली कर वसूल रसीद में लेखापाल व सरपंच के स्थान पर फर्जी हस्ताक्षर कर बिना सील मोहर लगे पावती काट हितग्राहियों को देने का मामला सामने आया है। साथ ही हितग्राहियों को दी गई पावती में किसका राशि लिया गया वो अंकित नही हैं, जिससे गुस्साए ग्रामीणों ने मीडिया से शिकायत की! जहां के दखल के बाद जाँच में पहुँचे अधिकारी।

पैसे नही देने की स्थिति में हितग्राही को राशनकार्ड नही

दरसल छत्तीसगढ़ सरकार जहाँ राशनकार्ड नवनीकरण कर नए राशनकार्ड बिना राशि लिए हितग्राहियों को वितरण कर रहा है तो वही दूसरी तरफ ग्राम पंचायत पवनी में सचिव, सरपँच द्वारा पैसे लेकर राशनकार्ड दिया जा रहा है, पैसे नही देने की स्थिति में हितग्राही को राशनकार्ड नही दिया जा रहा है!

मकान टेक्स और नल टेक्स के नाम पर पैसा जमा

आपको बताते चलें कि पवनी के पंचायत भवन में नवीन राशनकार्ड वितरण किया जा रहा है जहाँ राशनकार्ड धारियों से सरपँच सचिव द्वारा मकान टेक्स और नल टेक्स के नाम पर पैसा जमा करवाया जा रहा है, जमा नहीं होने की स्थिति में हितग्राहियों को नवीन राशनकार्ड नही दिया जा रहा है, जिन हितग्राहियों द्वारा टेक्स दिया गया है उन हितग्राहियों को बकायदा सचिव की अनुशंसा से जारी किया गया रसीद/पावती दिया जा रहा है जिसमे खास ए देखने को मिला कि पावती में कौन सा टेक्स लिया जा रहा वो अंकित नही किया गया है!

वहीं उस पावती में ए भी देखने को मिला कि लेखापाल और सरपंच के हस्ताक्षर के स्थान पर कोई जिम्मेदार अधिकारी के बगैर फर्जी हस्ताक्षर कर हितग्राहियों को दिया गया है जिनसे हितग्राहियों को शंका है कि उनके साथ धोखा किया जा रहा है, जिनकी शिकायत मीडिया को दी जहां मौके पर मीडियाकर्मी पहुँचकर ग्राम सचिव से जानकारी ली।

तो वही सचिव ने मीडियाकर्मी से अपनी धौंस जमाते हुए सही तरीके से वितरण करना और हितग्राहियों से दी गई पावती में पंचायत का सील मोहर नही लगना तथा उसमे किसका टेक्स लिया जा रहा वो अंकित नही होना को सही तरीका बताया! साथ ही ए कहा कि पावती में हस्ताक्षर कोई नही कर रहा है!

सचिव से इस सम्बंध में बाईट देने से किया इनकार

आप साफ तौर पर टी वी स्क्रीन पर देख सकते है कि पावती में किसका साईन है! और क्या वाकई पंचायत का मोहर लगा है या नही। वही सचिव से इस सम्बंध में बाईट देने कहा गया परंतु कैमरे के सामने कुछ भी कहने से इनकार करते नजर आए बल्कि मीडियाकर्मियों से बहस पर उतारू हो गया।जिसके बाद मीडिया की टीम ने तमाम मामले की जानकारी सम्बंधित अधिकारी और बिलाईगढ़ एस डी एम को दी बिलाईगढ़ एस डी एम ने तत्काल खादय विभाग के डी ओ उमाशंकर पटेल को जाँचकर रिपोर्ट देने कहा!

खादय विभाग के डी ओ पटेल जाँच के नाम पर फॉर्मेलटिस निभाने पवनी पंचायत पहुँचा, जहाँ सचिव सरपंच से मिलीभगत कर केवल रजिस्टर को चेक किया और जाँच में सब सही होना बताया। जबकि जाँच के दौरान किसी भी हितग्राही से ना पूछताछ कीया और ना ही पावती माँग पावती चेक कीया ! आइए देखते है अधिकारी और हितग्राही क्या कहा।

सबसे बड़ी बात की जब शासन प्रशासन से राशनकार्ड वितरण करने के समय किसी प्रकार का राशि लेने निर्देश जारी नही किया गया है तो क्यों मकान टेक्स और बिजली टेक्स के नाम पर राशि वशूल कर राशनकार्ड नही देने जैसे बात कहकर राशनकार्ड देने से क्यों मना किया जा रहा है। साथ ही साथ जब टेक्स ले पावती दे रहा, तो हितग्राहियों को दी जा रही पावती में पंचायत का शील मोहर क्यों और उसमें ली जा रही टेक्स को क्यों अंकित नही किया गया है। जो समझ से परे हैं।

कहीं ऐसा तो नही की टेक्स के नाम पैसा वसुल पंचायत के सचिव सरपंच और अन्य लोगों का जेबें भरने का काम किया जा रहा हो।

Back to top button