छत्तीसगढ़

शासन के आदेश का पालन न करने वाले लापरवाह डॉक्टर के ऊपर हुई कार्यवाही

डॉक्टर संतोष पटेल जिसने अपने उच्चाधिकारियों के आदेश की अवहेलना की

जांजगीर चांपा:- कोविड-19 अस्पताल के लिए जिले चयनित चिकित्सक डॉक्टर संतोष पटेल जिसने अपने उच्चाधिकारियों के आदेश के अवहेलना की और कोविड-19 अस्पताल में ड्यूटी करने के लिए इंकार कर दिया.जिसके बाद मामले को जांजगीर कलेक्टर ने संज्ञान लिया और तत्काल कार्यवाही के लिए निर्देश दिए वही बीएमओ डॉक्टर कात्यानी सिंह के शिकायत के बाद मालखरौदा थाना प्रभारी ने लापरवाह चिकित्सक को गिरफ्तार कर लिया.

आपको बता दें कि मालखरौदा सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में पदस्थ डॉक्टर संतोष पटेल का विवादों से हमेशा नाता रहा है. इससे पूर्व भी वह जशपुर जिले के पत्थलगांव में जब पदस्थ थे तब इसी तरीके से कई लापरवाही सामने आई थी जिसके बाद जांजगीर-चांपा जिले के मालखरौदा सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र आने के बाद बीएमओ पद की लालसा में हमेशा अपने विभाग के अधिकारियों से उलझे रहे वहीं मरीजों से पैसे लेने के भी कई मामले सामने आए.

वही सरकारी अस्पताल में कम बल्कि अपने सरकारी निवास में निजी प्रैक्टिस करने पर डॉक्टर साहब ज्यादा ध्यान दे रहे हैं. यही वजह है कि कोरोना काल में भी कोविड-19 अस्पताल में ड्यूटी करने से वह आनाकानी कर रहे हैं. जिसकी वजह से वह पद की मर्यादा भी भूल गये और बीएमओ के आदेश कॉपी पर ही अपना जवाब लिखकर दे दिए.

जिसकी जानकारी बीएमओ ने उच्च अधिकारियों को दी जिसके बाद यह छत्तीसगढ़ में पहली बार कोरोनाकाल मे लापरवाह डॉक्टर के कार्यवाही हुई है. वही लापरवाह डॉक्टर संतोष पटेल के ऊपर आईपीसी की धारा 188, आपदा प्रबंधन अधिनियम, 2005 56 DIS के तहत कार्यवाही हुआ.

Tags
Back to top button