छत्तीसगढ़

शासकीय धान की कस्टम मिलिंग नहीं कर निजी धान के मिलिंग में संलग्न राईस मिलर्स के विरूद्ध की गई कार्रवाई

इसी कड़ी में 16 जून को कुरूद विकासखण्ड के भोथली रोड कुरूद स्थित राईस मिल विजय फूड्स एवं मेसर्स बालाजी राईस मिल की आकस्मिक जांच की गई।

विनोद चावला

धमतरी 17 जून 2020: धमतरी कलेक्टर जय प्रकाश मौर्य के निर्देश पर जिले में शासकीय धान की कस्टम मिलिंग नहीं कर स्वयं के धान की मिलिंग (फ्री सेल) में संलग्न राईस मिलरों के विरूद्ध खाद्य विभाग द्वारा लगातार जांच की जा रही है। इसी कड़ी में 16 जून को कुरूद विकासखण्ड के भोथली रोड कुरूद स्थित राईस मिल विजय फूड्स एवं मेसर्स बालाजी राईस मिल की आकस्मिक जांच की गई।

जांच करने पर मिलिंग क्षमता के अनुरूप शासकीय धान की कस्टम मिलिंग नहीं करने एवं स्टाॅक में अंतर होने की वजह से छत्तीसगढ़ कस्टम मिलिंग चावल उपार्जन आदेश 2016 के तहत विजय फूड्स राईस मिल से 228.03 क्विंटल धान, 71.67 क्विंटल चावल और मेसर्स बालाजी राईस मिल से 183.92 क्विंटल धान, 57.18 क्विंटल चावल की जप्ती कर आगे की कार्रवाई के लिए प्रकरण को कार्यालय में प्रस्तुत किया गया।

बताया गया है कि छत्तीसगढ़ शासन के निर्देश पर अपनी स्थापित क्षमता के अनुसार शासकीय धान की कस्टम मिलिंग नहीं कर निजी धान के मिलिंग (फ्री सेल) में संलग्न राईस मिलर्स के विरूद्ध लगातार कार्रवाई जारी रहेगी

Tags
Back to top button