मध्यप्रदेशराज्य

मास्क न लगाने वालों पर मुख्यमंत्री, मंत्री व सांसद पर भी होगी कार्रवाई: शिवराज

राज्य में कोरोना संक्रमण बढ़ने की बात को स्वीकारते हुए मुख्यमंत्री चौहान ने कहा

भोपाल: मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने अस्पताल से ही कोरोना की स्थिति और व्यवस्थाओं की समीक्षा करते हुए कहा कि मास्क एवं सोशल डिस्टेंसिंग का अनिवार्य रूप से उपयोग करके ही हम कोरोना संक्रमण पर पूरा नियंत्रण कर पाएंगे. लॉकडाउन खुलने पर अगर इसका पालन नहीं किया जाता है, तो फिर से संक्रमण फैल जाएगा या सारी मेहनत बेकार हो जाएगी.

शिवराज सिंह चौहान ने आगे कहा दूसरी ओर लॉकडाउन करने से अर्थव्यवस्था बुरी तरह प्रभावित होती है. इसलिए अब हमें वर्तमान घोषित लॉकडाउन के पश्चात लॉकडाउन नहीं करना है औऱ पूरी सावधानी एवं सतर्कता के साथ विधि एवं नियमों का पालन करते हुए कोरोना को हराना है.

मुख्यमंत्री चौहान ने स्पष्ट शब्दों में कहा कि कोई भी व्यक्ति चाहे वह मुख्यमंत्री हो, मंत्री हो, जनप्रतिनिधि हों या अधिकारी हो, यदि उन्होंने इसका पालन नहीं किया तो फिर कार्रवाई होगी. कोरोना को खत्म करने के लिए सभी को इन सावधानियों को बरतना अनिवार्य है.

चौहान ने मंत्रियों से कहा कि आगामी 14 अगस्त तक कोई सार्वजनिक दौरे नहीं करें, वी सी के माध्यम से बैठकें करें, वर्चुअल रैली करें, अपने आवास पर भी एक बार में पांच व्यक्तियों से अधिक से न मिलें.

मुख्यमंत्री चौहान ने कहा कि चुनाव से अधिक आवश्यक है लोगों की जान बचाना. इसलिए कोई भी जनप्रतिनिधि कोई भी सार्वजनिक कार्यक्रम न करे. गाइडलाइंस का पालन न करने पर जुर्माने तथा प्रकरण दर्ज करने, दोनों की कार्रवाई की जाएगी.

राज्य में कोरोना संक्रमण बढ़ने की बात को स्वीकारते हुए मुख्यमंत्री चौहान ने कहा कि यह सही है कि बीते कुछ दिनों में प्रदेश में कोरोना के प्रकरणों में वृद्धि हुई है, लेकिन अभी भी तुलनात्मक रूप से देश में कोरोना संक्रमण में प्रदेश का स्थान 15वां है. वर्तमान में प्रदेश में रिकवरी रेट 69.9 और मृत्यु दर घटकर 2.77 हो गई है.

स्वास्थ्य विभाग के एसीएस मोहम्मद सुलेमान ने बताया कि भोपाल में एंटीजन टेस्ट भी शुरू कर दिए गए हैं. इससे अब बड़ी संख्या में तथा जल्दी कोरोना टेस्ट हो सकेंगे. कलेक्टर भोपाल ने बताया कि भोपाल में कोरोना के इलाज एवं क्वारेंटीन निशुल्क शासकीय व्यवस्था के अलावा अब पेड व्यवस्था भी निजी क्षेत्र में प्रारंभ हो गई है.

मध्य प्रदेश में कोरोना का कहर जारी है. मध्य प्रदेश के जल संसाधन मंत्री तुलसीराम सिलावट और उनकी पत्नी के कोरोना वायरस से संक्रमित होने की पुष्टि हुई है. राज्य में तीन मंत्री, आठ विधायक अबतक कोरोना पॉजिटिव हो चुके हैं. सूबे के मुखिया सीएम शिवराज सिंह चौहान के अलावा पिछड़ा वर्ग एवं अल्पसंख्यक कल्याण राज्यमंत्री रामखेलावन पटेल की कोरोना रिपोर्ट भी पॉजिटिव आई है.

मध्य प्रदेश में अरविंद भदौरिया के पहले कई विधायक और नेता कोरोना पॉजिटिव मिल चुके हैं. जिनमें धार विधायक नीना वर्मा, पूर्व केंद्रीय मंत्री विक्रम वर्मा, जावद विधायक ओमप्रकाश सकलेचा, कांग्रेस विधायक कुणाल चौधरी, जबलपुर से लखन घनघोरिया, सिरमौर से विधायक दिव्यराज सिंह भी शामिल हैं. इनमें से ज्यादातर इलाज के बाद स्वस्थ हो गए हैं और कुछ का इलाज चल रहा है.

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button