राजनीति

एपीजे कलाम के घर पहुंचे कमल हासन, आज से सियासी पारी शुरू

कमल हासन सुबह 10 बजे पत्रकार वार्ता भी करेंगे

एपीजे कलाम के घर पहुंचे कमल हासन, आज से सियासी पारी शुरू

मशहूर अभिनेता कमल हासन बुधवार को अपनी पार्टी की घोषणा करने वाले हैं. इस दौरान वह अपनी पार्टी का नाम, झंडा और विचारधारा के बारे में लोगों को बताएंगे. इससे पहले वह बुधवार सुबह सात बजे से ही एक यात्रा निकाल रहे हैं, जिसमें वह रामेश्वरम में पूर्व राष्ट्रपति अब्दुल कलाम के घर पहुंच गए हैं. वह उनके दफ्तर और मेमोरियल भी जाएंगे.

उन्होंने बुधवार अपनी यात्रा शुरू होने से पहले लोगों को बताया कि समय की कमी के चलते अब वह कलाम के स्कूल नहीं जाएंगे. हालांकि, तमिलनाडु सरकार के शिक्षा विभाग की ओर से कमल हासन को एपीजे कलाम स्कूल में आने की इजाजत नहीं दी गई थी. विभाग की ओर से कहा गया है कि स्कूल परिसर में राजनीतिक कार्यक्रम की मनाही है.

कमल हासन सुबह 10 बजे पत्रकार वार्ता भी करेंगे. उनका अपने जन्मस्थान रामनाथपुरम जाने का भी कार्यक्रम है. यहां से वह मदुरई जाएंगे. मदुरई पहुंचकर वह पार्टी की शुरुआत की घोषणा करेंगे. इस दौरान दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल भी मौजूद रह सकते हैं. केरल के सीएम पिनयारी विजयन भी वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए उपस्थिति दर्ज करा सकते हैं. यह कार्यक्रम शाम आठ बजे होगा.

क्रिकेटर और सियासी मुद्दों पर अपनी राय रखने वाले रविचंद्रन अश्विन ने ट्वीट किया कि तमिलनाडु में एक और सुपरस्टार एक्टर अपने राजनीतिक दल की शुरुआत करने जा रहे हैं. क्या राज्य के राजनीतिक परिदृश्य में बड़ा बदलाव आने जा रहा है?

DMK ने कहा- कागज के फूल
द्रविड़ मुनेत्र कड़गम (DMK) ने उनपर निशाना साधते हुए कहा कि कागज के वे फूल जिनमें खुशबू नहीं होती, वे केवल एक मौसम में खिलते हैं, लेकिन जल्द ही मुरझा जाते हैं. कमल अपनी राजनीतिक यात्रा की शुरुआत रामनाथपुरम जिले में अपने जन्म स्थान कामुथी से करेंगे.

मदुरई पहुंचने पर कमल हासन ने कहा, ‘मदुरई में पार्टी का झंडा शाम को फहराएगा और उस समय झंडे के पीछे के विचार के बारे में बताया जाएगा’. इससे पहले दिन में, अभिनेता सीमान ने चेन्नई में कमल के घर पर उनसे मुलाकात की थी. सीमान ने रजनीकांत के तमिल मूल का नहीं होने पर उनका जोरदार विरोध किया था. सीमान ने कहा, ‘कमल ने उनसे मिलने की इच्छा जताई थी, लेकिन उन्होंने महसूस किया कि उन्हें कमल के घर जाना चाहिए, क्योंकि वह उनसे बड़े हैं.’ सीमान ने कहा कि वह भी रामनाथपुरम जिले के निवासी हैं.

इस बीच पार्टी कार्यकर्ताओं को लिखे पत्र में डीएमके के कार्यकारी अध्यक्ष एम.के. स्टालिन ने कहा है, ‘DMK एक बरगद के पेड़ की तरह है, जिसकी मजबूत जड़ और शाखाएं हैं. इसे कोई भी हिला नहीं सकता. पार्टियां एक मौसम में पैदा हो सकती हैं, लेकिन वे केवल एक कागज के फूल की तरह हैं, जिसके पास सुगंध नहीं है, वे जल्द ही मुरझा जाएंगे.’

कमल ने DMK अध्यक्ष एम. करुणानिधि से आशीवार्द लेने के लिए गोपालपुरम स्थित उनके आवास पर उनसे मुलाकात की थी. स्टालिन भी उस वक्त वहां मौजूद थे.

Tags

Related Articles

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.