अंतर्राष्ट्रीयबिज़नेस

पाकिस्तान के लिए एडीबी ने 30 करोड़ डॉलर का स्वीकृत किया सशर्त ऋण

पाकिस्तान को अपनी आर्थिक गतिविधियों को पटरी पर लाने में मिलेगी मदद

इस्लामाबाद: फिलीपींस मुख्यालय वाले एशियाई विकास बैंक (एडीबी) ने जी 20 के 14 सदस्य देशों द्वारा पाकिस्तान को कर्ज पर दिए जाने वाले 80 करोड़ डॉलर के माल के सौदों पर रोक लगाने के बाद पाकिस्तान के लिए 30 करोड़ डॉलर (करीब 2,400 करोड़ भारतीय रुपये) का सशर्त ऋण स्वीकृत किया है।

इस धनराशि से पाकिस्तान को अपनी आर्थिक गतिविधियों को पटरी पर लाने में मदद मिलेगी। अगस्त 2020 तक जी 20 के सदस्य देशों का पाकिस्तान पर कुल 25.4 अरब डॉलर (1.88 लाख करोड़ भारतीय रुपये) का बकाया था। जी 20 दुनिया के 20 सर्वाधिक संपन्न देशों का समूह है। इसमें भारत भी शामिल है।

संपन्न देशों के इस फैसले से पाकिस्तान की हालत और खराब हो गई है। एडीबी के प्रमुख लोक प्रबंधन विशेषज्ञ हृणय मुखोपाध्याय ने कहा है कि इस कर्ज से पाकिस्तान को अपनी अर्थव्यवस्था सुधारने में मदद मिलेगी। पाकिस्तान और अमेरिका ने संयुक्त रूप से तख्त-इ-बहि बौद्ध मठ के जीर्णोद्धार का काम पूरा कर लिया है।

उत्तर पश्चिम पाकिस्तान में स्थित इस मठ का जीर्णोद्धार सांस्कृतिक संरक्षण परियोजना के तहत किया गया है, जिस पर दो लाख 30 हजार डालर (करीब 1.72 करोड़ रुपये) का खर्च आया है।खैबर पख्तुनख्वा प्रांत के मर्दान में मठ में परियोजना के समापन कार्यक्रम में अमेरिकी महावाणिज्यदूत ग्रेगोरी मैक्रिस वर्चुअल तौर पर शामिल हुए।

इस मौके पर उन्होंने कहा कि पाकिस्तान स्थित अमेरिकी मिशन स्थानीय पार्टनर के सहयोग से पूरे पाकिस्तान में सांस्कृतिक महत्व के स्थलों का संरक्षण करने के लिए प्रतिबद्ध है। यह स्थल बौद्ध धर्म के सबसे प्रभावशाली अवशेषों में से एक माना जाता है।

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button