कोरोना से स्वास्थ्य विभाग के एडिशनल डायरेक्टर की मौत

कोलकाता के एक निजी अस्पताल में उनका इलाज चल रहा था.

कोलकाता : कोलकाता में कोरोना वायरस (Covid-19) से अब हालात बिगड़ते जा रहे हैं। संक्रमित मरीजों की संख्या में जहां बढ़ोत्तरी हो रही है, तो वहीं इसकी चपेट में कई अधिकारी भी आ गये हैं। स्वास्थ्य विभाग के एक सीनियर अफसर की कोरोना से मौत हो गयी। अफसर पश्चिम बंगाल के स्वास्थ्य विभाग के एडिशनल डायरेक्टर थे। कोलकाता के एक निजी अस्पताल में उनका इलाज चल रहा था.

पश्चिम बंगाल में चिकित्सा बिरादरी से पहली मौत

डॉ बिप्लब कांति दासगुप्ता कोरोना से संक्रमित होने के बाद कुछ दिन पहले अस्पताल में भर्ती हुए थे, कल रात उनकी तबीयत ज्यादा बिगड़ गई. डॉक्टर ने उन्हें बचाने की कोशिश की लेकिन उनकी हालत बिगड़ती ही चली गई. रिपोर्ट के मुताबिक ये पश्चिम बंगाल में चिकित्सा बिरादरी से पहली मौत है. डॉ बिप्लब कांति दासगुप्ता की पत्नी की कोरोना पॉजिटिव हैं. उनका अभी अस्पताल में इलाज चल रहा है.

जानकारी के अनुसार, 60 वर्षीय मृतक अधिकारी स्वास्थ्य विभाग के सियालदह स्थित सेंट्रल मेडिकल स्टोर में सहायक निदेशक स्वास्थ्य सेवाओं (उपकरण व भंडार) के पद पर तैनात थे। शुरू में सांस की समस्याओं व कोरोना के अन्य लक्षणों के साथ उन्हें बेलेघाटा आईडी अस्पताल में भर्ती कराया गया था।

उनकी रिपोर्ट पॉजिटिव आने के बाद 18 अप्रैल को उन्हें साल्टलेक के आमरी अस्पताल में स्थानांतरित किया गया था। वहां उनकी सेहत काफी गंभीर बनी हुई थी और उन्हें वेंटिलेशन पर रखा गया था। रविवार रात में उनकी तबीयत ज्यादा बिगड़ गई। डॉक्टर ने उन्हें बचाने की पूरी कोशिश की लेकिन उनकी हालत बिगड़ती ही चली गई और रात करीब 1:20 बजे उन्होंने दम तोड़ दिया।

Tags
Back to top button