संबोधन: 80 करोड़ से ज़्यादा लोगों को नवंबर तक मुफ़्त राशन दिया जाएगा

स्वास्थ्य से जुड़े गाइडलाइन को पालन करने के लिए सभी से अपील की और कहा कि चाहे गांव का प्रधान हो या प्रधानमंत्री, क़ानून से ऊपर कोई नहीं है.

राष्ट्र के नाम अपने संबोधन में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि कोरोना महामारी से निपटने के लिए उनकी सरकार ने सही समय पर क़दम उठाए हैं.

मोदी ने कहा कि सही समय पर किए गए लॉकडाउन और अन्य फ़ैसलों ने भारत में लाखों लोगों की जान बचाई है. हालांकि उन्होंने ये भी कहा कि जब से अनलॉक-1 शुरू हुआ है, लोगों की लापरवाही बढ़ती चली जा रही है.

उन्होंने स्वास्थ्य से जुड़े गाइडलाइन को पालन करने के लिए सभी से अपील की और कहा कि चाहे गांव का प्रधान हो या प्रधानमंत्री, क़ानून से ऊपर कोई नहीं है.

उन्होंने कहा कि पीएम ग़रीब कल्याण योजना का विस्तार किया जा रहा है.

उन्होंने कहा कि अब तक उनकी सरकार ने 80 करोड़ लोगों को तीन महीने तक मुफ़्त राशन दिया है और अब ये सुविधा नवंबर, 2020 तक लागू रहेगी.
सरकार ने इन पाँच महीनों के लिए ग़रीब परिवार के हर सदस्य को पाँच किलो गेंहू या पाँच किलो चावल मुफ़्त मुहैया कराया जाएगा.

इसके लिए सरकार 90 हज़ार करोड़ रुपए ख़र्च करेगी.

मोदी ने कहा कि देश के मेहनतकश किसान और ईमानदार करदाता के कारण सरकार इस स्थिति में है कि वो ग़रीबों को मुफ़्त राशन देने में सक्षम है.

लाकडाउन को धीरे-धीरे ख़त्म करने की दिशा में सरकार ने तीन जून से 30 जून तक कुछ रियायतें दी थीं जिसे सरकार ने अनलॉक-1 कहा था.

अब एक जुलाई से अनलॉक-2 की शुरुआत होगी.

मोदी अपने लंबे संबोधनों के लिए जाने जाते हैं लेकिन मंगलवार को राष्ट्र के नाम अपने संदेश को उन्होंने बहुत छोटा रखा और सिर्फ़ 16-17 मिनट तक भाषण दिया.

लोगों को उम्मीद थी कि शायद वो कोरोना के अलावा भारत-चीन विवाद पर भी कुछ बोलेंगे लेकिन उन्होंने चीन के बारे में कोई बात नहीं की.

कांग्रेस ने मोदी के भाषण पर प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि सिर्फ़ एक योजना के विस्तार के लिए राष्ट्र के नाम संबोधन की क्या ज़रूरत थी.

एक जुलाई से अनलॉक- 2

इससे पहले कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने सोशल मीडिया पर एक वीडियो संदेश जारी कर प्रधानमंत्री से कुछ क़दम उठाने की माँग की थी. उन्होंने भारत-चीन सीमा विवाद का मुद्दा उठाते हुए कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ख़ुद बताएं कि चीन की सेना को वो भारत की धरती से कब और कैसे हटाएंगे.

राहुल ने कहा, “पूरा देश जानता है कि चीन ने हिंदुस्तान की पवित्र ज़मीन छीन ली है हम सब जानते हैं कि चीन लद्दाख में चार जगह अंदर बैठा हुआ है. नरेंद्र मोदी जी आप देश को बताइए चीन की फ़ौज को आप हिंदुस्तान से कब निकालेंगे और कैसे.”

कोरोना के कारण लॉकडाउन से ग़रीबों और प्रवासी मज़दूरों के लिए पैदा हुए संकट के बारे में राहुल गांधी ने मोदी से अपील की कि वो हर ग़रीब परिवार को कम से कम साढ़े सात हज़ार रुपए दें.

राहुल गांधी ने वीडियो के ज़रिए कहा, “न्याय योजना जैसी एक योजना लागू की जाए. परमानेंट न हो, छह महीने के लिए चलाइए. हर ग़रीब परिवार के खाते में 7,500 रुपये महीने का डालिए. इससे डिमांड क्रिएट होगा. अर्थव्यवस्था फिर से चालू होगी. सरकार ने मना कर दिया. एक बार नहीं तीन चार बार मना कर दिया. कारण दिया कि हमारे पास पैसा नहीं हैं.”

Tags
cg dpr advertisement cg dpr advertisement cg dpr advertisement
cg dpr advertisement cg dpr advertisement cg dpr advertisement

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button