राष्ट्रीय

रोमांटिक फिल्म बनाने में माहिर है आदित्य चोपड़ा

मुंबई। बॉलीवुड में आदित्य चोपड़ा का नाम एक ऐसे फिल्मकार के तौर पर शुमार किया जाता है जिन्होंने अपनी रोमांटिक फिल्मों के जरिये दर्शकों के दिलों पर खास पहचान बनायी । इक्कीस मई 1971 को मुंबई में जन्में आदित्य के पिता यश चोपड़ा जानेमाने फिल्मकार थे। घर में फिल्मी माहौल होने के कारण आदित्य का भी रूझान फिल्मों की ओर हो गया। आदित्य ने अपने करियर की शुरूआत अपने पिता निर्मित चांदनी, लम्हें और डर जैसी फिल्मों में सहायक निर्देशक के तौर पर की। बतौर निर्देशक आदित्य चोपड़ा ने अपने करियर की शुरूआत वर्ष 1995 में प्रदर्शित ब्लॉकबस्टर फिल्म ‘दिलवाले दुल्हनियां ले जायेंगे’ से की , जिसमें शाहरूख खान और काजोल की जोड़ी को दर्शकों ने बेहद पसंद किया।

फिल्म के लिये आदित्य सर्वश्रेष्ठ निर्देशक के फिल्म फेयर पुरस्कार से भी सम्मानित किये गये। वर्ष 2000 में आदित्य ने अपनी दूसरी फिल्म ‘मोहब्बतें’ का निर्देशन किया। फिल्म में आदित्य ने एक बार फिर से अपने चहेते अभिनेता शाहरूख खान का चयन किया। इस फिल्म में अमिताभ बच्चन और शाहरूख का टकराव देखने लायक था। फिल्म के जरिये आदित्य ने अपने भाई उदय चोपड़ा और शमिता शेट्टी को लांच किया। मोहब्बतें टिकट खिड़की पर सुपरहिट साबित हुयी। वर्ष 2008 में प्रदर्शित आदित्य निर्देशित तीसरी फिल्म फिल्म रब दे बना दी जोड़ी भी टिकट खिड़की पर सुपरहिट साबित हुयी। इस फिल्म के जरिये आदित्य ने शाहरूख के अपोजिट अनुष्का शर्मा को लांच किया। शाहरूख और अनुष्का की जोड़ी दर्शको के बीच काफी पसंद की गयी। इन सबके बीच आदित्य ने दिल तो पागल है, मेरे यार की शादी है, हम-तुम, धूम, वीरजारा, बंटी और बबली, सलाम नमस्ते, धूम-2, फना, चक दे इंडिया, बैंड बाजा बारात, मेरे बद्रर की दुल्हन, इश्कजादे, एक था टाइगर, जब तक है जान, धूम-3.गुंडे, फैन, सुल्तान, टाइगर जिंदा है जैसी कई कामयाब फिल्मों का निर्माण किया। आदित्य ने रानी मुखर्जी से शादी की है। आदित्य इन दिनों अमिताभ और आमिर खान को लेकर फिल्म ठग्स ऑफ हिंदुस्तान बना रहे हैं।
<>

Tags

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button
%d bloggers like this: