क्राइमराज्य

एडीएम सिटी ने नकली पेट्रोल और डीजल बेचे जाने के फर्जीवाड़े का किया खुलासा

पेट्रोल पंप का एक कर्मचारी और संचालक का दोस्त गिरफ्तार

मेरठ: उत्तर प्रदेश के कंकरखेड़ा थाना क्षेत्र में भोला रोड स्थित पठानपुरा गांव में तीन दिन पहले ही उद्घाटन हुए बायोटेक डीजल पेट्रोल पंप में क्षेत्रीय ग्रामीणों द्वारा बिकने वाले डीजल और पेट्रोल की गुणवत्ता खराब बताते हुए एडीएम सिटी से मामले की शिकायत करने के बाद मंगलवार को एडीएम सिटी अजय तिवारी ने दल-बल के साथ पेट्रोल पंप पर छापेमारी की.

कंकरखेड़ा क्षेत्र में मारे गए छापे के दौरान पेट्रोल पंप के एक कर्मचारी और संचालक के दोस्त को गिरफ्तार किया गया है. घटना के बाद प्रशासनिक अधिकारी पूरे मामले की जांच में जुट गए हैं.

बताया जाता है कि अधिकारियों के पहुंचने से पहले ही पेट्रोल पंप का मालिक अलीगढ़ निवासी गौरव कुमार और मैनेजर अंकुर कुमार मौके से फरार हो गए. उधर, पेट्रोल पंप पर किसी कंपनी का बोर्ड ना लगा देख एडीएम सिटी ने पेट्रोल पंप के कर्मचारियों से पंप की अनुमति से संबंधित कागजात मांगे, तो वह कुछ नहीं दिखा सके.

अधिकारियों ने जमीन में दबे दो टैंकरों से डीजल और पेट्रोल के नमूने लेकर जांच कराई तो डीजल और पेट्रोल के स्थान पर सॉल्वेंट जैसा कोई तरल पदार्थ पाया गया. बिना अनुमति चल रहे पेट्रोल पंप और वहां बिक रहे नकली तेल का खुलासा होते ही अधिकारी भी हैरान रह गए.

एडीएम सिटी ने जिला आपूर्ति अधिकारी नीरज सिंह को मौके पर तलब करते हुए पूरे प्रकरण की जांच शुरू कर दी है. वहीं, मौके से पेट्रोल पंप के कर्मचारी कपिल और संचालक के दोस्त गुड्डू को हिरासत में लिया गया है.

Tags
Back to top button