एएफसी एशियन कप : नॉकआउट में पहुंचने का भारत का सपना हुआ चूर-चूर

लेकिन आखिरी लम्हों में डिफेंस में हुई भारी चूक की वजह से भारत को मैच गंवाना पड़ा।

भारत के एएफसी एशियन कप में पहली बार नॉकआउट में पहुंचने का सपना टूट गया। ग्रुप-ए के आखिरी मुकाबले में भारत को बहरीन ने जमाल राशिद के पेनल्टी किक पर इंजुरी टाइम में किए गए इकलौते गोल की बदौलत 1-0 से हरा दिया। भारत इस हार से टूर्नामेंट से बाहर हो गया।

दुनिया के 97वें नंबर की भारतीय टीम को नॉकआउट में पहुंचने के लिए बहरीन को कम से कम बराबरी पर रोकना था, लेकिन आखिरी लम्हों में डिफेंस में हुई भारी चूक की वजह से भारत को मैच गंवाना पड़ा।

सातवें मिनट में बहरीन ने एक गोल भी किया लेकिन उसे ऑफ साइड करार दिया गया। बहरीन के कई प्रयासों को गोलकीपर गुरप्रीत ने नाकाम किया।

90वें मिनट में कप्तान प्रणय हलधर फाउल कर बैठे और बहरीन को पेनल्टी किक मिल गई। इसे रोकने के लिए गुरप्रीत ने गोता लगाई लेकिन गेंद सीधे नेट्स में जा समाई और बहरीन के खिलाड़ी खुशी से झूम उठे।

ग्रुप-ए से मेजबान यूएई और थाईलैंड ने अंतिम-16 के लिए सीधे क्वालीफाई किया। इन दोनों टीमों के बीच सोमवार को खेला गया मुकाबला 1-1 की बराबरी पर समाप्त हुआ।

नंबर गेम –

04 बार एशियन कप में भारत ने भाग लिया। 1964 में भारत ने पहली बार एशियन कप में भाग लिया था जहां वह उपविजेता रहा था।

03 मैच भारत ने 2019 के आयोजन में खेले। इस दौरान भारत ने थाइलैंड को 4-1 से हराया, जबकि यूएई से 0-2 और बहरीन से 0-1 से शिकस्त मिली। भारत अपने ग्रुप में सबसे नीचे चौथे स्थान पर रहा।

107 वां मैच था यह सुनील छेत्री का। उन्होंने भारत की ओर से सबसे ज्यादा मैच खेलने के बाईचुंग भूटिया के रिकॉर्ड की बराबरी की।

1
Back to top button