अफगानिस्तान और ईरान भी पाकिस्तान की हरकतों से परेशान

संयुक्त राष्ट्र: जम्मू कश्मीर के पुलवामा में हुए आतंकी हमले के बाद एक और बात का खुलासा हुआ है। यह खुलासा पाकिस्तान का है। पाकिस्तान जो कि अतकवादियों का मुल्क बन गया है, इससे न केवल भारत परेशान है। बल्कि उनके पड़ोसी मुल्क अफगानिस्तान और ईरान भी पाकिस्तान की हरकतों से परेशान है।

अफगानिस्तान सरकार ने की 22 फरवरी को शिकायत

एक मीडिया रिपोर्ट के अनुसार, अफगानिस्तान सरकार ने 22 फरवरी को लिखे एक लेटर में ‘पाकिस्तानी सेना द्वारा अफगानिस्तान की सीमा में लगातार अतिक्रमण’ की शिकायत की है। अफगानिस्तान सरकार ने अपने लेटर में संयुक्त राष्ट्र से आग्रह किया है कि वह ‘इस मामले के प्रभावी तरीके से समाधान के लिए जरूरी कदम उठाए।

पाकिस्तान की वजह से अफगानिस्तान के 82 लोगों की मौत

इस खत के अनुसार, पाकिस्तान ने साल 2012 से 2017 के बीच अफगानिस्तान की सीमा में 28,849 गोले दागे जिनकी वजह से अफगानिस्तान के 82 लोगों की मौत हो गई और 187 लोग घायल हो गए। एक हफ्ते के भीतर अफगानिस्तान सरकार द्वारा इस मामले में UN को लिखा गया यह दूसरा लेटर है। अफगानिस्तान ने पहले लेटर में इस बात की शिकायत की थी कि पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान इस्लामाबाद में तालिबान के नेताओं के साथ बैठक करने जा रहे हैं।

‘अफगानिस्तान की राष्ट्रीय संप्रभुता का उल्लंघन

उस लेटर में अफगान सरकार ने कहा था, ‘यह मीटिंग अफगानिस्तान की शांति प्रक्रिया को दमित करती है और ‘अफगानिस्तान की राष्ट्रीय संप्रभुता का उल्लंघन करती है। ‘ इसके बाद यह बैठक कैंसिल हो गई थी। तालिबान नेताओं ने इस बैठक को कैंसिल करते हुए कहा था कि संयुक्त राष्ट्र और अमेरिका द्वारा उनकी यात्राओं पर कई तरह के प्रतिबंध लगाने की वजह से वे पाकिस्तान नहीं जा सकते। इससे यह बात सामने आई थी कि पाकिस्तान अपने स्तर से तालिबान को मनाने की कोशिश कर रहा है।

संयुक्त राष्ट्र में अफगानिस्तान के उप स्थायी प्रतिनिधि नजीफुल्ला सलारजाई ने इस लेटर में लिखा है, ‘पाकिस्तान द्वारा इन उल्लंघनों के प्रकृति की बात करें तो वे लगातार अफगानिस्तान की सीमा में गोलीबारी कर रहे हैं, खासकर कुनार और नांगरहार प्रांत के जिलों और गांवों में।

पाकिस्तान लगातार अपने सैन्य विमान भेजकर और सैन्य चौकी, बैरियर, बाड़ लगाकर अफगानिस्तान की सीमा का अतिक्रमण कर रहा है।’ अफगानिस्तान का कहना है कि पाकिस्तान यह हरकत साल 2012 से ही कर रहा है, लेकिन 2017 के बाद इसमें तेजी आई है। साल 2018 की शुरुआत से अब तक पाकिस्तान ने अफगानिस्तान में 161 बार सीमा का अतिक्रमण किया है और 6,025 गोले दागे हैं।

Back to top button