अफ़ग़ानिस्तान में नमाज़ के दौरान बम धमाके में 62 लोगों की मौत की ख़बर

अफ़ग़ानिस्तान में शुक्रवार को जुमे की नमाज़ के दौरान एक मस्जिद में हुए बम धमाके में कम से कम 62 लोगों की मौत की ख़बर है. अधिकारियों के अनुसार, पूर्वी नांगरहार प्रांत की एक मस्जिद में शुक्रवार की नमाज़ के दौरान विस्फोट हो गया. धमाके में दर्जनों लोग घायल हुए हैं. धमाके के बाद मस्जिद की छत गिर गई.

इस इलाक़े में इस्लामिक स्टेट और तालिबान दोनों सक्रिय हैं लेकिन अभी तक इस धमाके की किसी ने ज़िम्मेदारी नहीं ली है. ये धमाका यूएन की ओर से जारी उस बयान के तुरंत बाद आया है जिसमें कहा गया था कि अफ़ग़ानिस्तान में आम लोगों की मौत की संख्या इस साल गर्मियों में काफ़ी बढ़ गई थी.

यूएन के मुताबिक़ जुलाई से सितंबर के बीच कम से कम 1174 नागरिक मारे गए हैं. इसमें जुलाई, 2019 दशक का सबसे ख़ूनी महीना साबित हुआ है. बीबीसी ने भी अगस्त में देश में होने वाली हिंसा से प्रभावित लोगों पर सर्वे किया, जिसके मुताबिक़ हिंसा में मरने वाला हर पाँचवां व्यक्ति आम नागरिक था.

प्रांत के गवर्नर के प्रवक्ता अताउल्लाह ख़ोग्यानी ने बीबीसी से कहा कि 62 लोगों की हमले में मौत हुई है और 36 लोग घायल हैं जो इबादत करने आए थे. प्रांत की राजधानी जलालाबाद से 50 किलोमीटर दूर हस्का मिना ज़िले की मस्जिद में यह घटना हुई है.

चश्मदीदों ने बताया कि मस्जिद की छत गिरने से पहले उन्होंने एक बड़ा धमाका सुना. अफ़ग़ानिस्तान की टोलो न्यूज़ के अनुसार, इस घटना में कई विस्फोटक इस्तेमाल किए गए थे. स्थानीय पुलिस अधिकारी तेज़ाब ख़ान ने कहा कि वह मुल्ला की आज़ान सुन रहे थे लेकिन ‘अचानक एक धमाके के बाद उनकी आवाज़ बंद हो गई.’

Back to top button