सेमीफाइनल में हार के बाद संजय बांगर पर बीसीसीआई की नज़र,गिर सकती है गाज़

एक्शन मोड में है बोर्ड,टीम मैनेजमेंट से खुश नहीं

नई दिल्ली: भारत की सेमीफाइनल में हार के बाद बीसीसीआई अब एक्शन मोड में आ गयी है। हार के बाद हो रहे चौतरफा हमले के बीच संजय बांगर पर कार्यवाही हो सकती है। भारतीय क्रिकेट कण्ट्रोल बोर्ड ने भले रवि शास्री और भारत सरीखे कोच का कार्यकाल 45 दिनों के लिए बढ़ा दिया है पर सहायक और बैटिंग कोच संजय बांगर की छुट्टी तय मानी जा रही है।

रिपोर्ट के मुताबिक,भारतीय क्रिकेट टीम के मुख्य कोच रवि शास्त्री समेत अन्य कोचिंग स्टाफ के करार को वर्ल्ड कप के बाद 45 दिनों के लिए बढ़ाया जा सकता है,लेकिन सहायक कोच संजय बांगर की जगह सुनिश्चित नहीं है क्योंकि BCCI के एक मुख्य धड़े का मानना है कि उन्हें अपना काम बेहतर तरीके से करना चाहिए था।

बीसीसीआई के एक सीनियर अधिकारी ने,’यह लगातार परेशानी का विषय रहा। हम खिलाड़ियों को पूरा समर्थन दे रहे हैं क्योंकि वह केवल एक मैच (न्यूजीलैंड के खिलाफ) में खराब खेले,लेकिन स्टाफ की प्रक्रिया और निर्णय की जांच की जाएगी और उनके भविष्य के बारे में निर्णय लिया जाएगा।’ विजय शंकर के चोटिल होकर टूर्नामेंट से बाहर होने से पहले बांगर ने यह भी कहा था कि भारतीय ऑलराउंडर पूरी तरह से फिट है। अधिकारी ने कहा,’चोटिल होने के कारण शंकर के टूर्नामेंट से बाहर होने से पहले बांगर का यह कहना कि ऑलराउंडर पूरी तरह से फिट है,एक साधारण सी बात थी। चीजें कहीं न कहीं व्यवस्थित नहीं थीं।

बता दें की नं. 4 की खोज इस विश्व कप में भी पूरी नहीं हो पायी और भारतीय टीम ने लगातार परिवर्तन कर इस पोजीशन में खिलाड़ियों को मौका दिया। इसकी जिम्मेदारी बैटिंग कोच संजय बांगर के कंधों पर ही थी।

Back to top button