शादी के बाद पत्नी ने पति को तलाक देकर अपने ससुर के साथ कर ली शादी

पूर्व पति की शिकायत पर पुलिस दोनों को पकड़ लिया

बदायूं:उत्तर प्रदेश के बदायूं जनपद में शादी के बाद पत्नी ने पति को तलाक देकर अपने ससुर के साथ शादी कर ली. पूर्व पति की शिकायत पर पुलिस दोनों को पकड़ लिया, लेकिन कोर्ट में शादी होने के कागजात देखकर उन्हें छोड़ दिया गया. शादी के वक्त पति नाबालिग था. वह अपनी मर्जी से ससुर के साथ गई. दोनों ने कोर्ट मैरिज कर ली.

मामला बिसौली कोतवाली क्षेत्र के दबथरा गांव का है. जहां एक नाबालिग की शादी कुंवरगांव थाना क्षेत्र में एक लड़की के साथ 2016 में शादी हुई थी. उस समय देवानंद के पुत्र सुमित की 15 साल के थे.

सुमित की मां की मृत्यु 2015 में हो गई थी. इसी के चलते उनके पिता देवानंद ने अपने बेटे की शादी जल्दी 2016 में कर दी थी. शादी के कुछ समय बाद देवानंद अपनी बहू को अपना दिल दे बैठा. दोनों के आपस में प्रेम संबंध हो गए.

इसके बाद ससुर अपनी बहू को लेकर फरार हो गया. साल 2016 में महिला ने अपने पति से तलाक ले लिया और अपने ससुर के साथ शादी रचा ली. ससुर देवानंद सफाई कर्मचारी था. बताया जाता है कि देवानंद और उसकी पुत्र वधू से एक बेटा भी है जो अब 2 साल का हो गया है.

सुमित अपनी पत्नी और पिता की तलाश में घूमता रहा, जिसकी शिकायत बिसौली कोतवाली में दर्ज कराई थी. सुमित के तलाश करने के बाद जब दोनों का कहीं पता नहीं चला तब सुमित ने बिसौली कोतवाली पुलिस से आरटीआई डालकर जवाब मांगा.

पुलिस ने इस पूरे मामले का मामले की जानकारी सुमित को उपलब्ध कराई है. इस मामले में बिसौली कोतवाल ऋषि पाल सिंह ने बताया कि सुमित जुआ और नशे का आदी हो गया था, जिसके चलते उसकी पत्नी दूर रहने लगी बुरी आदत की वजह से पत्नी तलाक ले लिया था.

पत्नी के साथ उसके पिता की शादी की जानकारी भी सुमित को थी, लेकिन वह अपने लिए परवरिश और खर्चों की मांग लगातार करता था. जब विवाद ज्यादा बढ़ गया तब सब इंस्पेक्टर ने देवानंद सुमित और लड़की को बुलाया. जिसमें आपस में पंचायत हुई और लड़की ने अपने ससुर के साथ शादी कर लेने के कारण साथ रहने की हामी भर दी.

वहीं, सुमित अपनी परवरिश के साथ छोटे भाई की देखरेख की जिम्मेवारी पिता देवानंद को उठाने के लिए कहा जिस पर दोनों में विवाद अभी खत्म नहीं हुआ है.

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button