एक्सीडेंट के बाद भीड़ का शिकार हुआ वाहन चालक, ग्रामीणों ने की मारपीट

योगेश केशरवानी:

बिलाईगढ़: बलौदाबाजार जिला के ग्राम पंचायत टेढ़ीभदरा निवासी प्रकाश भारती, जो स्कोर्पियो क्रमांक CG 22 H 8034 में दिनाँक 6 मई 19 को सुबह लगभग 10:00 से 11 बजे के बीच मुख्यमार्ग चाँपा से भटगांव की ओर मेहमान छोड़कर घर वापस आ रहा था, तभी तालदेवरी के पास मोटरसाईकल व स्कोर्पियों में अचानक भिड़ंत हो गया। भिड़ंत में 2 लोगों की मौके पर मौत हो गया था।

सामूहिक रूप से मिलकर मारपीट किया

वही मौत के बाद मृतिका के परिजन और कुछ ग्रामीणों द्वारा प्रकाश भारती के साथ लात, घुसा और बेल्ट से सामूहिक रूप से मिलकर मारपीट किया था। घटना की जानकारी मिलते ही बिर्रा थाना से पुलिस मौके पर पहुँची और चालक प्रकाश भारती को छुड़ाने का प्रयास किया किन्तु गुस्साए परिजन और ग्रामीणों की भीड़ ने छुड़ा रहे पुलिस के साथ भी मारपीट किया जिससे पुलिस को भी चोंटें आई।

बड़ी मसक्कत के बाद पुलिस ने चालक प्रकाश भारती को भीड़ से छुड़ाकर बेहोश और गंभीर हालात में स्वास्थ्य केंद्र जांजगीर चाँपा में भर्ती कराया था। वही हालात को देखते हुए डॉक्टर ने अपोलो हॉस्पिटल बिलासपुर रेफर कर दिया था, जहां अपोलो हाॅस्पिटल मे भी हलात को देखते हुए बिलासपुर के प्रथम हाॅस्पिटल रिफल कर दिया गया, जहा प्रथम हॉस्पिटल बिलासपुर में घायल प्रकाश का इलाज चल रहा था वही ईलाज के दौरान प्रकाश की मौत हो गई।

तो वही दूसरी ओर मृतक प्रकाश भारती के परिजन… ग्रामीण..व उनके मित्रों ने बिर्रा थाना पहुँचकर न्याय दिलाने की माँग को लेकर मारपीट करने वाले सभी आरोपियों को गिरफ्तार कर कड़ी कार्यवाही करने की निवेदन की तांकि आगे भविष्य में किसी और के साथ इस तरह की घटना ना हो और ऐसे लोगों की हौसले बुलंद न हो तथा कानून को अपने हाँथ म न लें सके।

एस डी ओ पी साधना सिंह ने बताया कि एक्ससीडेंट के दौरान हुए हादसा से पूरी पुलिस विभाग को भी दुख है और घटना के दौरान चालक प्रकाश के साथ किए गए मारपीट के आरोपियों की पतासाजी कर 6 लोगों की गिरफ्तारी की गई है।

सभी आरोपियों की धरपकड़ टीम गठित कर की जा रही

और उसमें मुख्यरूप से शामिल रहने वाले सभी आरोपियों की धरपकड़ टीम गठित कर की जा रही है। आज भी ओडिसा से कुछ आरोपियों को पकड़कर बिर्रा थाना लाया जा रहा है। इस तरह कुल 8 लोगों को गिरफ्तार किया गया है। घटना में संलिप्त और भी आरोपियों की लगातार पतासाजी की जा रही है।

आरोपियों के प्रति धारा 147 ,294,323,427,506 (बी),302 और अन्य धाराओं के तहत अपराध पंजीबद्ध कर कड़ी कार्यवाही की जा रही है।

Back to top button