अंतर्राष्ट्रीयराष्ट्रीय

चंद्रयान-2 के बाद मंगल पर इंसान भेजने की तैयारी, ISRO ने दी जानकारी

कोयंबटूर: भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (ISRO) सितंबर 2019 के पहले सप्ताह में चंद्रयान-2 के प्रक्षेपण की तैयारी कर रहा है। इस बीच इसके परियोजना निदेशक माइलस्वामी अन्नादुरई ने कहा कि भारतीय वैज्ञानिक मंगल पर मानव मिशन की भी तैयारी कर रहे हैं। अगले 20-25 वर्षो में इसका प्रक्षेपण संभव है। अन्नादुरई चंद्रयान-1 के भी परियोजना निदेशक रह चुके हैं।

कोयंबटूर में आयोजित राष्ट्रीय विज्ञान प्रदर्शनी में शनिवार को हिस्सा लेने पहुंचे अन्नादुरई ने खास बातचीत में कहा, ‘विज्ञान व तकनीक के क्षेत्र में भारत एक शक्ति के रूप में उभर रहा है। देश ने अपने अंतरिक्ष मिशन चंद्रयान-1 व मंगलयान के रूप में बड़ी सफलता हासिल की है। भारतीय अंतरिक्ष और तकनीक के क्षेत्र में युवा काम कर रहे हैं और यहां उनके लिए बेहतरीन अवसर भी उपलब्ध हैं।’

उन्होंने कहा, ‘मंगल पर मानव मिशन संभव है, लेकिन इस पर उपग्रह के प्रक्षेपण में 20-25 साल लग जाएंगे। नौ माह मंगल में जाने, 9 महीने धरती पर आने तथा दो माह मंगल में रहने यानी पूरी प्रक्रिया करीब दो साल लंबी है। यह मिशन अंतरराष्ट्रीय स्तर का होगा। इस दिशा में और भी देश काम कर रहे हैं।’

Tags
Back to top button