माघी पुन्नी राजिम मेले के बाद रेत भरे प्लास्टिक चुमड़ी को नदी में ही छोड़ दिए

दीपक वर्मा

राजिम। गरियाबंद जिले के राजिम नगर के त्रिवेणी संगम महानदी में 19 फरवरी से 4 मार्च शिवरात्रि तक माघी पुन्नी राजिम मेले का आयोजन हुआ।

कांग्रेस द्वारा लगातार विपक्ष में रहते मेले के दौरान सड़क बनाने के लिए मुरम डाले जाने का विरोध करते आए पर कांग्रेस सरकार बैठते ही राजिम कल्प कुम्भ का नाम परिवर्तन कर राजिम पुन्नी मेला किया।

साथ ही मुरम का सड़क बनाने का विरोध होने पर रेत का सड़क बनाया गया पर रेत भरे प्लास्टिक चुमड़ी को नदी में छोड़ दिए गए है जो बारिश के समय पुल के सामने बने एनीकट में पानी निकलने पर बाधक बनेंगे जो नदी के दोनों ओर राजिम और नवापारा नगर के निचली बस्ती में पानी घुसने से लोगों को परेशानियों से जुझना पड़ेगा और जनधन की हानि भी होगी।

Back to top button