राष्ट्रीय

नतीजे के बाद बोले कुमारस्वामी, राहुल गांधी को करना चाहिए ‘महागठबंधन’ का नेतृत्व’

बेंगलुरु :

कर्नाटक में तीन लोकसभा और दो विधानसभा सीटों पर हुए उपचुनाव में कांग्रेस-जेडीएस गठबंधन ने बीजेपी को तगड़ा झटका दिया है. कांग्रेस-जेडीएस गठबंधन ने पांच में से चार सीटें अपने नाम कर ली.

लोकसभा की तीन सीटों में से कांग्रेस और जेडीएस गठबंधन ने दो सीटें जीत लीं, वहीं विधानसभा की दो सीटों पर बीजेपी का सुपड़ा साफ कर दिया. इतना ही नहीं, बीजेपी की गढ़ माने जाने वाली बेल्लारी सीट में भी कांग्रेस ने सेंध लगा दी. कर्नाटक के मुख्यमंत्री एचडी कुमारस्वामी की पत्नी अनिता भी चुनाव जीत गई हैं.

नतीजे आने के बाद मुख्यमंत्री एचडी कुमारस्वामी ने कहा कि कर्नाटक में सत्तारूढ़ गठबंधन की सफलता अगले साल होने वाले लोकसभा चुनाव में बीजेपी के खिलाफ संयुक्त विपक्ष को एकजुट करने में मजबूती देगा.

उपचुनाव में जीत के बाद कर्नाटक के मुख्यमंत्री एचडी कुमारस्वामी ने कहा कि राहुल गांधी को 2019 चुनाव में महागठबंधन का नेतृत्व करना चाहिए. बता दें कि बीते मई महीने में एचडी कुमारस्वामी के शपथ ग्रहण समारोह के दौरान विपक्षी एकता की झलक देखने को मिली थी. शपथ ग्रहण समारोह के दौरान एक ही मंच पर सोनिया गांधी, ममता बनर्जी, मायावती, चंद्रबाबू नायडू नजर आए थे.

एचडी कुमारस्वामी ने कहा कि जब भी विपक्ष एकजुट हुआ है तब-तब बीजेपी को शिकस्त का सामना करना पड़ा है. कुमारस्वामी ने उत्तर प्रदेश उपचुनाव का उदाहरण दिया, मायावती और अखिलेश यादव ने मिलकर भारतीय जनता पार्टी को हराया था. उन्होंने कहा कि मेरे विश्लेषण के अनुसार 2019 में महागठबंधन की सरकार बनेगी. जनता महागठबंधन को बहुमत देगी.

टिप्पणियां कुमारस्वामी ने जेडीएस-कांग्रेस की गठबंधन सरकार को समर्थन देने पर जनता का आभार जताया और कहा कि दोनों पार्टियां आगामी लोकसभा चुनावों में राज्य की सभी 28 सीटों पर मिलकर चुनाव लड़ेंगी.

कुमारस्वामी ने कहा, ‘हम 2019 का लोकसभा चुनाव एकसाथ मिलकर लड़ेंगे. यही हमारा लक्ष्य है. चूकी आज हमें जीत मिली है, इसलिए यह खोखले दावे नहीं हैं. यह लोगों का हमपर विश्वास है. यह जीत हमें घमंडी नहीं बनाएगी. जैसा कि हमने इस बार किया, हम एकसाथ बैठकर समन्वित तरीके से लोकसभा चुनाव लड़ने की रणनीति बनाएंगे.’

मुख्यमंत्री ने कहा, ‘हमने जनता की भलाई के लिए कई कदम उठाए जो लागू होने के चरण में हैं. अब तक उन तक लाभ नहीं पहुंचा है.’ उन्होंने कहा कि हालांकि लोगों को हमारी नीतियां पसंद आई हैं, चाहे वह फसल ऋण माफी हो या सड़क पर रेहड़ी लगाने वालों को वित्तीय मदद हो.

एक अलग संवाददाता सम्मेलन में कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष दिनेश गुंडू राव ने कहा कि उनकी दमदार जीत इस बात का संकेत है कि कर्नाटक की जनता ने गठबंधन सरकार की नीतियों को उनकी मंजूरी दी है. उन्होंने कहा, ‘उसने (जनता) भाजपा, उसकी विभाजनकारी राजनीति और तानाशाही प्रवृत्ति को खारिज किया है. हम 2019 चुनाव मिलकर लड़ेंगे.

Tags
advt