सुप्रीम कोर्ट के निर्णय के बाद प्रिया प्रकाश वारियर ने कहा, ‘फैसले से खुश…’

प्रिया और लुलू ने गीत 'मानिक्या मलाराया पूवी' के खिलाफ तेलंगाना और महाराष्ट्र राज्यों में उनके खिलाफ कई आपराधिक मामले दायर होने के बाद राहत के लिए शीर्ष अदालत में याचिका दायर की थी.

नई दिल्ली:

एक मलयाली फिल्म के गीत में अपनी आंखों की अदाओं से इंटरनेट पर छाने वाली अभिनेत्री प्रिया प्रकाश वारियर ने कहा कि वह वायरल वीडियो को लेकर उनके तथा फिल्म के निर्देशक उमर लुलू के खिलाफ आपराधिक कार्यवाही पर रोक के उच्चतम न्यायालय के फैसले से खुश हैं.

प्रिया और लुलू ने गीत ‘मानिक्या मलाराया पूवी’ के खिलाफ तेलंगाना और महाराष्ट्र राज्यों में उनके खिलाफ कई आपराधिक मामले दायर होने के बाद राहत के लिए शीर्ष अदालत में याचिका दायर की थी. आरोप है कि यह गीत एक खास समुदाय की धार्मिक भावनाओं को आहत करने वाला है.

18 साल की अभिनेत्री ने त्रिसूर में मीडिया से कहा, हमारे अधिवक्ता ने कहा कि सबकुछ सकारात्मक है. इसे सभी फिल्म निर्माताओं के लिए सकारात्मक होना चाहिए. फिल्म निर्देशक ने कहा कि फैसला बड़ी राहत देने वाला है.

उन्होंने कहा, हम बहुत उत्साहित हैं. यह गीत वायरल होने के तुरंत बाद जब पूरी टीम जश्न मना रही थी, हमारे खिलाफ मामले दर्ज होने की खबर आई. कलाकार बहुत युवा हैं और वे बहुत तनाव में आ गये थे.

ष्य निधि अंशधारकों को दी जाने वाली 7.6 प्रतिशत की दर से अधिक है.

मंत्री ने कहा कि ट्रस्ट ने ईपीएफओ योजनाओं के तहत कवरेज के लिए कर्मचारी संख्या सीमा को मौजूदा 20 से घटाकर 10 करने का भी फैसला किया है. उन्होंने उम्मीद जताई कि इस फैसले से ईपीएफओ अंशधारकों की संख्या नौ करोड़ तक हो जाएगी.

Back to top button