चैंपियंस ट्रॉफी में ऑस्ट्रेलिया से कड़े संघर्ष के बाद हारा भारत

ब्रेडाः भारत अंतिम मिनटों में विश्व और गत चैंपियन ऑस्ट्रेलिया पर जबरदस्त दबाव बनाने के बावजूद एफआईएच चैंपियंस ट्रॉफी हॉकी टूर्नामेंट के अपने तीसरे मैच में बुधवार को 2-3 से हार गया। गत उप विजेता भारत ने 1-3 से पिछडऩे का बाद अंतिम चार मिनट में ऑस्ट्रेलिया की रक्षा पंक्ति पर दबाव बनाया और इस दौरान तीन पेनल्टी कार्नर हासिल किए लेकिन इनमें से एक पर ही गोल हो सका। भारत को आखिरी मिनट में पेनल्टी कार्नर मिला लेकिन ऑस्ट्रेलिया ने इसे बचा लिया और भारत के हाथों से बराबरी करने का मौका निकल गया।

भारत की टूर्नामेंट में तीन मैचों में यह पहली हार है। भारत ने अपने पहले मैच में पाकिस्तान को 4-0 से और फिर ओलंपिक चैंपियन अर्जेंटीना को 2-1 से पराजित किया था। भारत ने तीसरे मैच में जबरदस्त संघर्ष किया और ऑस्ट्रेलिया के पसीने निकाल दिए। ऑस्ट्रेलिया के इस जीत के बाद सात अंक हो गए हैं और वह तालिका में चोटी पर है। मेजबान हॉलैंड और भारत के एक बराबर 6-6 अंक हैं लेकिन बेहतर गोल औसत के आधार पर हॉलैंड दूसरे और भारत तीसरे स्थान पर है। अर्जेंटीना चार अंकों के साथ चौथे, बेल्जियम दो अंक के साथ पांचवें और पाकिस्तान तीनों मैच गंवाकर छठे तथा अंतिम स्थान पर है।

तेज गति से खेले गए इस मुकाबले में भारतीय गोलकीपर और कप्तान पीआर श्रीजेश ने कई अच्छे बचाव भी किये। हालांकि ऑस्ट्रेलिया ने छठे मिनट में ही लचलान शार्प के मैदानी गोल से बढ़त बना ली। वरुण कुमार ने 22 वें मिनट में बेहतरीन प्रयास से भारत के लिए बराबरी का गोल दाग दिया। टॉम क्रेग ने 15 वें मिनट में पेनल्टी कार्नर को गोल में बदला और ऑस्ट्रेलिया 2-1 से आगे हो गया। ट्रेंट मिटन ने 33 वें मिनट में ऑस्ट्रेलिया को 3-1 से बढ़त दिला दी। भारत ने 58 वें मिनट में हरमनप्रीत सिंह के पेनल्टी कार्नर पर किये गोल से हार का अंतर कम किया। भारत ने अंतिम मिनट में पेनल्टी कार्नर गंवाया न होता तो मैच ड्रा समाप्त होता। भारत का अब 28 जून को बेल्जियम से और 30 जून को हॉलैंड से मुकाबला होगा।

Back to top button