गुजरात में 5 दिन में दलित के साथ मारपीट की चौथी वारदात, एफआईआर दर्ज

गुजरात में दलित व्यक्ति के साथ मारपीट कि एक और वारदात सामने आई है. पाटण जिले के चाणस्मा तहसील में स्थित गंगोट गांव में एक दलित युवक को कथित उच्च जाति के लोगों को गरबा खेलते देखने को लेकर शुरू हुई कहासुनी इतनी बढ़ी कि कथित उच्च जाति के लोगों ने दलित युवक के पिता को बुरी तरह मारा-पीटा.

पुलिस के अनुसार, घटना 29 सितंबर की है, जब कहीं से गांव की ओर आ रहे दलित युवक सिद्धार्थ के पिता पर उच्च जाति के लोगों ने हमला कर दिया. हमले में पीड़ित बुरी तरह घायल हुआ है.

इससे पहले पीड़ित का बेटा सिद्धार्थ जब गांव में चल रहे गरबा उत्सव को देखने पहुंचा तो कथित उच्च जाति के लोगों ने उसके साथ भी मारपीट की और कहा कि वह उच्च जाति के लोगों को गरबा खेलते नहीं देख सकता.

इतना ही नहीं इसके दो दिन पहले इन उच्च जाति के लोगों ने दो दलित लड़कियों को भी गांव में ही स्थित गौरी मंदिर में चल रहे गरबा उत्सव से बाहर कर दिया था.

गांव के कथित उच्च जाति के कुछ लोगों ने दोनों लडकियों का हाथ पकड़ उन्हें गरबा खेलने से रोका और ‘दलित होकर उच्च जाती के लोगों के साथ गरबा कैसे खेल सकती हो’ कहकर उन्हें वहां से निकाल दिया.

दलित परिवार का यह आरोप भी है कि मारपीट करने वाले लोगों की पृष्ठभूमि राजनीतिक होने के चलते पहले तो पुलिस ने शिकायत दर्ज करने से ही इंकार कर दिया था.

लेकिन जब गांव के सभी दलित एकजुट होकर एसएसपी के पास शिकायत करने पहुंचे, तब जाकर पुलिस ने मामले में शिकायत दर्ज की.

पुलिस ने मामले में 5 लोगों के खिलाफ एट्रोसिटी एक्ट के तहत जान से मारने कि कोशिश के तहत प्राथिमकी दर्ज की है.

गौरतलब है कि गुजरात में बीते पांच दिनों में दलितों के साथ मारपीट को लेकर यह चौथी प्राथमिकी दर्ज हुई है.

1
Back to top button