क्राइमराष्ट्रीय

एआईएमआईएम के जिलाध्यक्ष फारूक अहमद के फायरिंग में एक व्यक्ति की मौत

जमीर ने शनिवार को निम्स में उपचार के दौरान दम तोड़ दिया

नई दिल्ली: तेलंगाना के अदिलाबाद जिले में ऑल इंडिया मजलिस ए इत्तेहादुल मुस्लिमीन (एआईएमआईएम) के जिलाध्यक्ष फारूक अहमद द्वारा फायरिंग में घायल एक व्यक्ति का इलाज के दौरान मौत हो गया.

फायरिंग की इस घटना में सैयद मन्ना और मोथेशम को भी गोली लगी थी. गोली लगने से घायल इन दोनों का भी उपचार चल रहा है. दोनों की हालत स्थिर बताई जा रही है. फायरिंग की यह घटना 18 दिसंबर को हुई थी. पुलिस ने गोली चलाने के आरोपी फारूक को गिरफ्तार कर लिया था.

गौरतलब है कि जमीर अदिलाबाद म्यूनिसिपैलिटी का पूर्व पार्षद था. आरोपी फारूक भी अदिलाबाद म्यूनिसिपैलिटी का पूर्व वाइस चेयरमैन है. जमीर ने फारूक के खिलाफ लड़ा था चुनाव बताया जाता है कि फारूक, जमीर से काफी दिनों से खार खाए था.

जमीर ने फारूक के खिलाफ म्यूनिसिपैलिटी का चुनाव लड़ा था. फारूक ने एक क्रिकेट मैच के बाद अपनी लाइसेंसी रिवॉल्वर से फायरिंग की थी, जिसमें तीन लोग घायल हो गए थे. विरोध-प्रदर्शन के बाद पुलिस ने फारूक को गिरफ्तार कर लिया था. फारूक ने आत्मरक्षा में गोली चलाने की बात कही थी.

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button