1500 करोड़ के अल्पावधि ऋण की जरूरत एयर इंडिया को

नई दिल्ली: सरकारी विमानन कंपनी एयर इंडिया ने तत्काल कार्यशील पूंजी की जरूरतों को पूरा करने के लिए 1,500 करोड़ रुपए के अल्पावधि ऋण की मांग की है. इसकी जानकारी कंपनी के एक दस्तावेज से हुई है.

एक महीने से कुछ अधिक समय में यह दूसरी बार है जब एयर इंडिया ने अल्पावधि ऋण के लिए निविदा जारी की है. वहीं, दूसरी ओर सरकार हिस्सेदारी बेचने की
रूपरेखा पर काम कर रही है.

कर्ज के बोझ तले दबी सरकारी विमानन कंपनी एयर इंडिया वित्तीय संकट और कठोर प्रतिस्पर्धा समेत कई मुद्दों से जूझ रही है. दिनांक 18 अक्तूबर को जारी दस्तावेज में एयर इंडिया ने कहा, ‘वह तत्काल कार्यशील पूंजी आवश्यकताओं को पूरा करने के लिए

सरकारी गारंटी के समर्थन वाली 1500 करोड़ रुपए तक की अल्पावधि ऋण की तलाश में है.
ऋण की अवधि जारी होने की तिथि से 27 जून 2018 तक होगी और इस अवधि को आगे भी बढ़ाया जा सकता है. दस्तावेज में कहा गया है कि भारत सरकार की गारंटी 27, जून 2018 तक या विनिवेश की तिथि तक वैध रहेगी.

ऋण के संबंध में एयर इंडिया ने बैंकों से अनुरोध किया है कि वह वित्तीय बोली के साथ दी जाने वाली राशि के बारे में जानकारी 26 अक्‍टूबर तक जमा करें.

Back to top button