राजधानी में हवा की गुणवत्ता हुई बेहतर

राजधानी में हवा की गुणवत्ता हुई बेहतर

नयी दिल्ली : राष्ट्रीय राजधानी के कुछ हिस्सों में पीएम 2.5 और नाइट्रोजन डाइऑक्साइड का स्तर घटा है, इसके साथ ही दिल्ली की हवा की गुणवत्ता अच्छी तो नहीं कही जा सकती लेकिन कुछ सुधरी जरूर है। एक दिन पहले प्रदूषण ‘आपात’ स्तर तक पहुंच गया था।

कल प्रदूषण का स्तर ‘बेहद गंभीर’ श्रेणी में था। बाद में शहर का औसत वायु गुणवत्ता सूचकांक 500 के मापक पर 336 तक पहुंच गया जो ‘बहुत खराब’ श्रेणी है।

केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड (सीपीसीबी) के वायु गुणवत्ता प्रबंधन के केंद्रीय नियंत्रण कक्ष ने यह जानकारी दी।

सीपीसीबी के नेतृत्व वाले कार्यबल ने आगामी आसियान सम्मेलन के मद्देनजर दिल्ली-एनसीआर में चल रहे कोयला आधारित सभी उद्योगों को 15 जनवरी से एक पखवाड़े के लिए बंद करने की कल सिफारिश की थी।

राष्ट्रीय राजधानी में आसियान सम्मेलन 19 से 30 जनवरी तक होना है।

प्रदूषण का स्तर फिर से बढ़ना शुरू हो गया है। यह 19 दिसंबर की रात से बढ़ना शुरू हुआ और तब से बढ़ता जा रहा है। इसकी मुख्य वजह हवा की गति कम होना है।

advt
Back to top button