पी चिदंबरम ने ईडी द्वारा संपत्ति जब्त किए जाने को ‘झूठ और अटकलों का मिश्रण’ बताया

नई दिल्लीः प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने एयरसेल-मैक्सिस सौदे में धन शोधन संबंधी अपनी जांच के सिलिसिले में सोमवार को पूर्व वित्त मंत्री पी चिदंबरम के पुत्र कार्ति चिदंबरम और कथित तौर पर उनसे जुड़ी एक कंपनी की 1.16 करोड़ रुपये की संपत्ति जब्त कर ली. एजेंसी ने धन शोधन निरोधक अधिनियम के तहत संपत्ति को कुर्क करने के लिये एक अस्थायी कुर्की आदेश जारी किया. इस आदेश पर प्रवर्तन निदेशालय के संयुक्त निदेशक और 2 जी स्पेक्ट्रम आवंटन मामले के जांच अधिकारी राजेश्वर सिंह के हस्ताक्षर हैं. केंद्रीय जांच एजेंसी ने कहा, ‘‘प्रवर्तन निदेशालय ने एएससीपीएल :एडवांटेज स्ट्रैटजिक कंस्ल्टिंग प्राइवेट लिमिटेड: की सावधि जमा के रूप में जमा 26 लाख रुपये की चल संपत्ति और कार्ति पी चिदंबरम द्वारा सावधि जमा और बैलेंस के रूप में बचत खाते में जमा लगभग 90 लाख रुपये तक की राशि को जब्त कर लिया है.’’ एएससीपीएल कथित तौर पर कार्ति से जुड़ी कंपनी है और ईडी ने कहा कि वह एक अन्य व्यक्ति एस भास्कररामन के जरिये इसपर ‘नियंत्रण’ रखे हुए थे. भास्कररामन के बारे में कार्ति ने एजेंसी को बताया था कि वह उनके चार्टर्ड एकाउन्टेंट और मुख्य वित्तीय अधिकारी :सीएफओ: हैं.

Back to top button