बिज़नेसराष्ट्रीय

एयरलाइंस को चार्टर्ड फ्लाइट में दोनों तरफ से यात्रियों के परिवहन की मिली इजाजत

वंदे भारत मिशन के तहत यूएई से यात्रियों को ले जाने की इजाजत नहीं

नई दिल्ली: संयुक्त अरब अमीरात (यूएई) का आवासीय परमिट रखने वाले भारतीय नागरिक द्वारा पिछले कुछ हफ्ते से सोशल मीडिया पर भारत एवं यूएई के बीच उड़ानों की कमी की शिकायत पर अब 12-26 जुलाई तक यात्रियों के परिवहन की इजाजत मिल चुकी है।

फिलहाल वंदे भारत मिशन के तहत यूएई में फंसे भारतीयों को वापस लाने वाली उड़ानों में यहां से यात्रियों को ले जाने की इजाजत नहीं है। इसी प्रकार यूएई की उड़ानें भारत से खाड़ी देशों के यात्रियों को तो ले जा सकती हैं, लेकिन उन्हें वहां से यात्रियों को भारत नहीं ला सकतीं।

संयुक्त अरब अमीरात (यूएई) का आवासीय परमिट रखने वाले भारतीय नागरिक पिछले कुछ हफ्ते से सोशल मीडिया पर दोनों देशों के बीच उड़ानों की कमी की शिकायत कर रहे थे। कोरोना संक्रमण की महामारी फैलने के बाद भारत ने 23 मार्च से अंतरराष्ट्रीय उड़ानों पर रोक लगा रखी है।

नागर विमानन मंत्रालय ने गुरुवार को ट्वीट किया, ‘भारत में फंसे यूएई नागरिकों की स्वदेश वापसी में मदद के लिए दोनों देशों के नागर विमानन ने 12 जुलाई 2020 से नई व्यवस्था शुरू करने पर सहमति जताई है। यूएई की चार्टर्ड फ्लाइटों को 12-26 जुलाई तक भारतीय नागरिकों को वहां से भारत लाने और आइसीए अनुमोदित यूएई निवासियों को ले जाने की अनुमति होगी।

इसी प्रकार यूएई में फंसे भारतीयों को वापस लाने वाली उड़ानों को भारत से आइसीए अनुमोदित यूएई नागरिकों को उनके देश ले जाने की इजाजत होगी।’ आइसीए का आशय यूएई की फेडरल अथॉरिटी फॉर आइडेंटिटी एंड सिटिजनशिप से है। एयर इंडिया एक्सप्रेस के सीईओ के श्याम सुंदर ने भी यह सूचना ट्विटर पर साझा की।

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button