अजब सजे हे महाकाली मोरे पेण्ड्रावाली’ देवी गीत रिलीज

महाकाली मोरे पेण्ड्रावाली शानिवार को सुन्दरानी म्यूजिक वर्ल्ड चैनल रायपुर से रिलीज हुआ

गौरेला पेंड्रा मरवाही :- पेण्ड्रा के उभरते युवा पत्रकार शैलेश सोनी s/o शास्वत सोनी पेण्ड्रा जो कि वर्तमान में पत्रकारिता के छेत्र में अपना करियर आगे बढ़ाने के साथ साथ म्यूजिक के छेत्र में भी जोर आजमाइश कर रहे है। उनका पहला देवी जसगीत अजब सजी हे महाकाली, मोरे पेण्ड्रावाली शानिवार को सुन्दरानी म्यूजिक वर्ल्ड चैनल रायपुर से रिलीज हुआ। जो कि जीपीएम जिले के आस पास छेत्र के साथ साथ पूरे जगह सोसल मीडिया में धूम मचा रहा है और सिर्फ 24 घण्टे के अंदर ही लगभग पहले गाने को 10 हजार लोगों द्वारा देखा और सुना गया। सभी वर्ग के लोगो को यह देवी भजन बहोत पसन्द आ रहा है। लगातार यूट्यूब पर व्यू बढ़ रहे है।

वर्तमान में वो गौरेला पेण्ड्रा मरवाही जिले के लिए हिंदी खबर न्यूज में कार्यरत है। म्यूजिक इवेंट्स एक्टिंग मॉडलिंग में बचपन से रुचि रखने वाले इस शैलेश ने अपने दोनों छोटे भाई सिद्धार्थ और शिवम के साथ मिलकर जिले में लगे लॉकडाउन का बेहतर उपयोग किया। सिद्धार्थ और शिवम सोनी ने गीत की रचना की ।और एक नया आयाम कायम किया।सभी लोगो ने उनको बेहतर भविष्य के लिए बधाई शुभकामनाएं दी। उन्होंने बताया कि लगातार निरन्तर विगत 5 वर्षों से नवरात्रि में सीतला मंदिर सरोवर परिसर में महाकाली सेवा समिति सदस्यों द्वारा माता महाकाली की आकर्षक मूर्ति बैठाई जाती है जिसे देखेने दूर दूर से लोग आते है लगातार उनकी सेवा करते हुए सुरु से मन में ये भाव था कि उनके नाम से एक भजन गाना है वो सपना अब पूरा होने जा रहा है। आशा करता हु आप अभी को ये भजन बहोत पसन्द आएगा। आप सभी के स्नेह माता पिता के आशीर्वाद से ये सब सम्भव हो पाया ।इस गीत में जिसने भी हम सबका साथ दिया सभी को धन्यवाद करना चाहता हु और बहुत ही जल्दी देवी जसगीत का पूरा एलबम रिलीज करने की तैयारी चल रही है ।

जिसमे पेण्ड्रा जिले के समस्त धार्मिक मन्दिरो का गुड़गान किया है ।। मैं आने वाले समय मे अपने भजनों के माध्यम से अपने जीपीएम जिला जो कि बहुत पहले से धार्मिक आस्था का केंद है आसपास के सभी धार्मिक इस्थलों को भजनों के माध्यम से दिखला सकू जिससे जिले की एक अलग पहचान बन सके ।।यही मेरा निरतर प्रयास रहेगा ।।

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button