फ्री मोबाइल देने पर कुछ इस तरह अजीत जोगी ने सरकार पर साधा निशाना

शायराना अंदाज में जोगी ने सरकार पर साधा निशाना

फ्री मोबाइल देने पर कुछ इस तरह अजीत जोगी ने सरकार पर साधा निशाना

रायपुर : रमन सरकार की ओर से प्रदेश के 45 लाख महिलाओं और 5 लाख युवाओं को निःशुल्क में स्मार्ट फ़ोन देने की योजना को लेकर एक बार फिर पूर्व मुख्यमंत्री अजीत जोगी ने सरकार पर निशाना साधा है. जनता कांग्रेस छत्तीसगढ़ (जे) के संस्थापक अजीत जोगी ने एक बयान प्रेस रिलीज जारी कर कहा है कि फ्री मोबाइल आबंटन को रमन सरकार द्वारा संचार क्रांति एवं तिहार का नाम देना गैरवाजिब है।

प्रदेश में आज कोई परिवार ऐसा नही है जिसके पास 2-3 मोबाइल न हो। मोबाईल के स्थान पर प्रदेश के 30 लाख बेरोजगारों के लिए नौकरी या बेरोजगार भत्ते की दिशा में कोई कदम उठाया जाता तो छत्तीसगढ़ एवं छत्तीसगढ़िया के हक में सार्थक होता।

उन्होंने कहा कि आज छत्तीसगढ़िया बेरोजगारी के कारण रोजी-रोटी की विकराल समस्या से जूझ रहा है, उसके निराकरण के दिशा में रमन सरकार खामोश है। भाजपा तो केवल ऐन-केन-प्रकारेण पुनः सत्ता पर काबिज होने के लिए तरह-तरह के हथकंडे एवं प्रलोभन देने के अभियान में जूटी है।

फ्री मोबाइल आबंटन उसी दिशा में एक असफल प्रयास है। जोगी ने मुफ्त मोबाइल आबंटन को गैरवाजिब, फिजूलखर्ची एवं माले मुफ्त दिले बेरहम की संज्ञा देते हुए कहा है कि भाजपा द्वारा छत्तीसगढ़िया को वोट प्राप्ति के लिए दिये जा रहे ऐसे प्रलोभन या बहकावे में आने वाली नही है।

ऐन विधानसभा चुनाव से पहले हजारों करोड़ कीमत के मोबाईल फ्री बांटकर भाजपा का मुंगेरी सपना कदापि सफल होने वाला नही है। जकांछ की सत्ता आने पर छत्तीसगढ़िया के हितों को ही प्राथमिकता दी जायेगी, तथा ऐसी फिजूलखर्ची एवं कमीशनखोरी पर लगाम लगाकर वहीं पैसा प्रदेश एवं प्रदेशवासियों के हित की रचनात्मक योजनाओं पर खर्च किया जायेगा। भाजपा की साख प्रदेश में गिर चुकी है उसे बचाने का फ्री मोबाईल आबंटन असफल प्रयास मात्र है।

Back to top button