ऐसी दिलाई थी अजीत वाडेकर ने भारत को इंग्लैण्ड से जीत

1971 में उन्हें भारतीय टेस्ट टीम का कप्तान चुना गया था।

नई दिल्ली : महान भारतीय कप्तान अजीत वाडेकर का 77 साल की उम्र नें निधन हो गया. अजीत वाडेकर लंबे समय से बीमार चल रहे थे. वाडेकर ने भारत को इंग्लैंड और वेस्टइंडीज की धरती पर पहली टेस्ट सीरीज जीत दिलाई थी.

यह इंग्लैंड की धरती पर भारत की पहली टेस्ट जीत थी। जनवरी 1971 में उन्हें भारतीय टेस्ट टीम का कप्तान चुना गया था।

1971 के दौरे पर भारत और इंग्लैंड के बीच शुरुआती 2 टेस्ट ड्रॉ रहे। फिर तीसरे टेस्ट में बीएस चंद्रशेखर का जादू चला और उन्होंने दूसरी पारी में 38 रन देकर 6 विकेट झटके। ओवल में यह टेस्ट भारतीय टीम ने 4 विकेट से अपने नाम किया।

अजीत वाडेकर ने 1958-59 में फर्स्ट क्लास क्रिकेट में अपना डेब्यू किया था। इसके 8 साल बाद उन्हें टीम इंडिया में डेब्यू का मौका मिला। उन्होंने 1966 वेस्ट इंडीज के खिलाफ अपने टेस्ट डेब्यू किया था। वाडेकर ने अपने होम ग्राउंड मुंबई में ही अपना टेस्ट डेब्यू किया।

वाडेकर ने 37 टेस्ट की 71 पारियों में 2113 रन बनाए। अपने टेस्ट करियर में उन्होंने 1 शतक और 14 अर्धशतक जड़े।

अजीत वाडेकर को बेहद मृदुभाषी क्रिकेटरों में गिना जाता है। वह मुंबई के रहने वाले थे और उन्हें क्रिकेट के लिए अर्जुन अवॉर्ड से सम्मानित किया गया था।

Tags
Back to top button