छत्तीसगढ़

शराबबंदी : कांग्रेस रमन सिंह जैसा गलत काम नहीं करेगी: करूणा शुक्ला

रायपुर/राजनांदगांव।

राजनांदगांव शहर विधानसभा चुनाव लड़कर राज्य में तीन बार के मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह को कड़ी टक्कर देने वाली कांग्रेस नेत्री करूणा शुक्ला ने शराबबंदी के मुद्दे को लेकर बयान दिया है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस का लक्ष्य शराबबंदी है पर इतना तय है कि सरकार शराब दुकानें नहीं चलाएगी। इस बयान के बाद एक बार फिर डॉ. सिंह पर हमला बोला है।

शुक्ला ने पत्रिका से बात करते हुए कहा कि राजनांदगांव में अभी भी और काम करने की जरूरत है। उन्होंने साफ कहा कि 15 साल यहां का प्रतिनिधित्व करने वाले डॉ. रमन सिंह ने राजनांदगांव के हितों की रक्षा नहीं की। उन्होंने भरोसा दिलाया कि राज्य में कांग्रेस की सरकार बन गई है और वे यहां की जनता के साथ जुड़कर उनके हितों की पूरी ताकत से रक्षा करेंगी।

विधानसभा चुनाव में हार के बाद भी शुक्ला यहां सक्रिय हैं और कांग्रेस सहित अन्य कार्यक्रमों में लगातार अपनी उपस्थिति दे रही हैं। रविवार से राजनांदगांव में मौजूद शुक्ला से पत्रिका ने बात की। उन्होंने कहा कि चुनाव में हार जीत होते रहती है लेकिन राजनांदगांव की 63 हजार से ज्यादा जनता ने उन पर भरोसा जताया था और वे अब पूरे विधानसभा क्षेत्र की जनता के लिए समर्पित होकर काम करेंगी।

उन्होंने कहा कि वे जनता की सेवक बनकर काम करना चाहती थीं पर वे चुनाव नहीं जीतीं, लेकिन सेवा का जो बीड़ा उन्होंने उठाया था, उससे पीछे नहीं हटेंगी। हर मौके पर जनता के बीच रहकर उनके जरूरी मुद्दों को उठाएंगी और राजनांदगांव को इस सरकार में किसी तरह की दिक्कत नहीं होने देंगी।

ये तय है कि सरकार नहीं बेचेगी शराब

भाजपा सरकार के दौर की दर्ज पर कांग्रेस नेताओं और कार्यकर्ताओं पर शराब दुकानों के बाहर चखना सेंटर चलाए जाने की शहर में हो रही चर्चा पर शुक्ला ने कहा कि वे सब नहीं जानतीं, पर इतना साफ करना चाहती हैं कि कांग्रेस के लोग कोई भी गलत काम नहीं करेंगे। उन्होंने कहा कि कांग्रेस का लक्ष्य शराबबंदी है पर इतना तय है कि सरकार शराब दुकानें नहीं चलाएगी। शराबबंदी के लिए भाजपा की बनाई अध्ययन कमेटी भंग कर नई कमेटी बना दी गई और उसकी रिपोर्ट आने के बाद इस पर फैसला लिया जाएगा।

इसलिए बनाए गए शेडो विधायक

कांग्रेस पार्टी द्वारा राज्य भर में विधानसभा चुनाव हारे हुए 22 नेताओं को अपने -अपने विधानसभा क्षेत्र में शेडो विधायक का दर्जा दिए जाने पर शुक्ला ने कहा कि हारे हुए लोगों में 8 सीटिंग विधायक थे जबकि कई लोग ऐसे थे जो पहली बार चुनाव लड़ेे थे और हार गए थे। ऐसे लोग बेहद निराश थे। ऐसे में पार्टी के प्रदेश प्रभारी पीएल पुनिया ने उन सबसे एक एक कर अकेले में बात की और उनको भरोसा दिलाया कि वे अपने क्षेत्र में पार्टी का प्रतिनिधित्व करेंगे। उन्होंने कहा कि राज्य में कांग्रेस की सरकार है, ऐसे ेमें हारे हुए लोग शेडो विधायक के रूप में अपना दायित्व निभाते हुए क्षेत्र की जन समस्याओं पर बेहतर तरीके से काम कर सकते हैं।

लोकसभा चुनाव लडेंगी?

लोकसभा चुनाव लडऩे के सवाल पर शुक्ला ने कहा कि वे तो विधानसभा चुनाव भी नहीं लडऩा चाहती थी लेकिन पार्टी के आदेश पर लडऩा पड़ा। इस सवाल पर सीधे तौर पर हां या ना कहने से बचते हुए शुक्ला ने कहा कि चुनाव लडऩे का फैसला पार्टी नेतृत्व करता है और पार्टी की सिपाही होने के नाते पार्टी नेतृत्व जो भी आदेश देगा वे मानेंगी।

कांग्रेस का गढ़ है राजनांदगांव

दिवंगत प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी की भतीजी शुक्ला ने कहा कि राजनांदगांव कांग्रेस का गढ़ रहा है और लोकसभा चुनाव में फिर से कांग्रेस की जीत होगी। उन्होंने कहा कि कांग्रेस के गढ़ में रेडीमेड मुख्यमंत्री के रूप में डॉ. रमन सिंह चुनाव लडऩे आए थे और जनता ने उन्हें जीता दिया था लेकिन अब उनका वक्त पूरा हो गया है।

Summary
Review Date
Reviewed Item
शराबबंदी : कांग्रेस रमन सिंह जैसा गलत काम नहीं करेगी: करूणा शुक्ला
Author Rating
51star1star1star1star1star
congress cg advertisement congress cg advertisement
Tags
Back to top button