चेन्नई में अगले 24 घंटे तक भारी बारिश का अलर्ट, स्कूल-कॉलेज बंद

तमिलनाडु की राजधानी चेन्नई में लगातार हो रही बारिश से एक बार फिर 2015 के बाद बाढ़ का खतरा मंडरा रहा है. तमिलनाडु सरकार ने मौसम विभाग की चेतावनी के बाद चेन्नई, तिरुवल्लुर, कांचीपुरम जिलों में स्कूलों और कॉलेजों को बंद करने का आदेश दिया है. मौसम विभाग ने अगले 24 घंटे तक भारी बारिश की आशंका व्यक्त की है.

शि‍क्षण संस्थानों को बंद करने का आदेश एजुकेशन डिपार्टमेंट ने मौसम विभाग की उस सूचना के बाद लिया, जिसमें कहा गया है कि शुक्रवार से पहले बारिश रुकने की संभावना कम है.

इससे पहले सोमवार को तूफानी हवाओं के साथ हुई 8 मिलीमीटर बारिश की वजह से इलाके में बाढ़ की आशंका पैदा हो गई है. चेन्नई में 35 से 55 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से हवाएं चलीं. पुडुचेरी और उपनगरों में भारी बारिश हुई. इससे निचले इलाकों में पानी भर गया है और कई जगह सोमवार को ट्रैफिक जाम की नौबत आ गई.

भारी बारिश की वजह से थंजावुर के ओर्थेनाडु में घर गिरने से 38 साल के व्यक्ति की मौत हो गई. आपको बता दें कि दिसंबर 2015 में भी चेन्नई में भारी बारिश हुई थी. उस दौरान तमिलनाडु में 200 से अधि‍क लोगों की मौत हो गई थी.

चेन्नई के कई इलाकों में भारी बारिश से वॉटर लॉगिंग हो गई है. इससे ट्रैफिक काफी धीमी रफ्तार से चल रहा है. चेन्नई कॉरपोरेशन ने बाढ़ की दृष्ट‍ि से 300 निचले इलाकों की पहचान की है. खतरा होने पर यहां से लोगों को निकालने की कोशिश की जाएगी. 175 रिलीफ सेंटर भी बनाए गए हैं.

साइकलोन वॉर्निंग सेंटर के डायरेक्टर एस बालाचंद्रन ने बताया कि इस बार भी श्रीलंका के पास ही साइकलोन बन रहा है. इससे तमिलनाडु के तटीय इलाकों में भारी बारिश की आशंका उत्पन्न हो गई है. हालांकि मौसम विभाग का आंतरिक इलाकों में औसत बारिश का अनुमान है.

दिसंबर 2015 में भी चेन्नई में भारी बारिश और बाढ़ की वजह से चार लाख से ज्‍यादा लोगों को घर छोड़ कर राहत शिविरों में रहना पड़ा था. 20 हजार करोड़ रुपए से ज्‍यादा के नुकसान की आशंका व्यक्त की गई थी.

Back to top button