बड़ी खबरराज्यराष्ट्रीय

Alert : इन राज्यों में होगी भारी बारिश, गंगा-यमुना में बाढ़, मचेगी तबाही

उत्तराखंड में बारिश और टिहरी और नरौरा डैम से पानी छोड़े जाने के कारण गंगा नदी का जल स्तर भी बढ़ रहा है।

नई दिल्ली: देश के विभिन्न राज्यों और क्षेत्रों में बारिश की प्रक्रिया जारी है। लगातार बारिश के कारण नदियों का जलस्तर तेजी से बढ़ने लगा है। असम, बिहार में नदियाँ खतरे के निशान से ऊपर बह रही हैं। वहीं, लगातार हो रही बारिश के कारण गंगा और यमुना का जलस्तर भी लगातार बढ़ रहा है। पिछले तीन दिनों से प्रयागराज में गंगा और यमुना का जलस्तर बढ़ रहा है। जिसके बाद घाटों पर रहने वाले तीर्थ पुरोहितों, नाविकों और श्रद्धालुओं को सतर्क कर दिया गया है।

यमुना नदी का जलस्तर बढ़ रहा

साथ ही, सिंचाई विभाग द्वारा स्थापित बाढ़ नियंत्रण कक्ष से 24 घंटे गंगा और यमुना नदियों के बढ़ते जल स्तर की लगातार निगरानी की जा रही है। हालाँकि, अभी गंगा और यमुना दोनों नदियाँ खतरे के निशान से नीचे बह रही हैं। पिछले 24 घंटों में, गंगा नदी के जल स्तर में 10 सेंटीमीटर की वृद्धि हुई है, जबकि यमुना नदी का स्तर 16 सेमी तक बढ़ गया है। उत्तराखंड में बारिश और टिहरी और नरौरा डैम से पानी छोड़े जाने के कारण गंगा नदी का जल स्तर भी बढ़ रहा है। वहीं, केन, बेतवा और चंबल नदियों से पानी छोड़े जाने के कारण यमुना नदी का जलस्तर बढ़ रहा है।

हिमाचल में बारिश के साथ अलर्ट जारी

मौसम विभाग के अनुसार, अगले 24 घंटों में गुजरात, बिहार, ओडिशा, पश्चिम बंगाल, सिक्किम, असम, तमिलनाडु और आंध्र प्रदेश के कुछ हिस्सों में भारी बारिश होने की संभावना है। इसके अलावा, मुंबई में 16 जुलाई तक भारी बारिश होने की संभावना है, इस बारे में चेतावनी जारी की गई है। वहीं, उत्तर प्रदेश, मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़, केरल और कर्नाटक जैसे राज्यों में मॉनसून की गति सामान्य है, यहाँ मध्यम वर्षा हो सकती है। इसके अलावा, उत्तराखंड, पंजाब और हरियाणा के कुछ जिलों में हल्की बारिश की संभावना है, जबकि हिमाचल में बारिश के साथ अलर्ट जारी किया गया है।

पूर्वोत्तर भारत में बारिश कम

वहीं, राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में मौसम शुष्क रहने की संभावना है, इसलिए दिल्ली के लोगों को बारिश के लिए अभी और इंतजार करना पड़ सकता है। मौसम विभाग का कहना है कि अगले सात दिनों तक दिल्ली में बारिश की बहुत कम संभावना है। दिल्ली में आर्द्रता का स्तर 87 प्रतिशत तक पहुंचने के कारण लोग नमी के कारण परेशान हैं। दिल्ली में अधिकतम तापमान 38.2 डिग्री सेल्सियस रहा।

बता दें कि असम में बाढ़ का कहर जारी है। राज्य भर में बाढ़ ने तबाही मचाई है। सोमवार को भी भारी बारिश हुई थी, इस दौरान छह लोगों की मौत हो गई थी। वहीं, राज्य में लगभग 22 लाख लोग बाढ़ से प्रभावित हुए हैं। हालांकि, मौसम विभाग ने असम के लिए एक राहत भरी खबर दी है। विभाग का कहना है कि मानसून ने अब अपना रास्ता बदल लिया है और यह तेजी से दक्षिण की ओर बढ़ रहा है। इस बदलाव के कारण पूर्वोत्तर भारत में बारिश कम हो जाएगी।

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button