अरब सागर से उठे चक्रवाती तूफान तौकते को लेकर कई राज्यों में अलर्ट जारी

गुजरात में लोगों को सुरक्षित स्थान पर पहुंचे में जुटे BSF जवान

टॉकटे: अरब सागर से उठे चक्रवाती तूफान तौकते गुजरात के वेरावल और पोरबंदर के बीच मांगरोल के पास तट से टकराएगा. महाराष्ट्र, केरल और गुजरात के तटों पर तीन दिन तक तूफान का असर रहने की संभावना है.

मौसम विभाग का अनुमान है कि चक्रवाती तूफान के दौरान 150 से 160 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से हवाएं चल सकती हैं. जानकारी के मुताबिक Cyclone Tauktae गोवा के तटीय क्षेत्र से टकरा गया है.

आईएमडी ने कहा कि 17 मई को मुंबई सहित उत्तरी कोंकण में कुछ स्थानों पर तेज हवाएं चलेंगी और भारी बारिश होगी. तूफान के खतरे को देखते हुए पीएम मोदी ने शनिवार को हाईलेवल मीटिंग की और तैयारियां का जायजा लिया. प्रधानमंत्री मोदी ने राहत-बचाव के सभी इंतजाम करने और लोगों की सुरक्षा के निर्देश दिए हैं.

मौसम विभाग के अनुसार अगले तीन दिन में तौकते नाम का तूफान केरल, गोवा, गुजरात और महाराष्ट्र के लिए बड़ी मुसीबत बन सकता है. जिसके लिए NDRF की टीमों को अलर्ट पर रखा गया है.

अनुमान है कि 18 मई को चक्रवाती तूफान गुजरात के वेरावल और पोरबंदर के बीच मांगरोल के पास तट से टकराएगा. गुजरात के कच्छ और सौराष्ट्र के समुद्री इलाकों में साइक्लोन को लेकर कोस्ट गार्ड अलर्ट पर है. साथ ही मछुआरों को समंदर से दूर रहने की चेतावनी दी गई है.

गुजरात में लोगों को सुरक्षित स्थान पर पहुंचे में जुटे BSF जवान

गुजरात के समुद्र तट पर चक्रवाती तूफान का संकट मंडरा रहा है. इस बीच गुजरात के संवेदनशील बॉर्डर भारत-पाक सीमा (कच्छ बॉर्डर) पर BSF ने भी अपना मोर्चा संभाल लिया है. कच्छ के क्रीक बॉर्डर इलाके में मछुआरों को समुद्र किनारे जाकर मछलियां ना पकड़ने की सलाह दी गई है. साथ ही में चक्रवाती तूफान के बीच पाकिस्तान के समुद्री रास्ते से कोई नापाक घुसपैठ की हरकत न हो इसके लिए BSF के जवान कच्छ के क्रीक इलाके में पेट्रोलिंग कर रहे हैं.

महाराष्ट्र में भारी बारिश का अलर्ट

क्रवाती तूफान तौकते (Cyclone Tauktae) के खतरे के बीच मौसम विभाग ने महाराष्ट्र में अलर्ट जारी किया गया है. तूफान के खतरे के बीच मुंबई के दहिसर के जबों कोविड अस्पताल से मरीजों को शिफ्ट किया गया है. मौसम विभाग (IMD) ने कहा कि मुंबई, ठाणे और रायगढ़ में सोमवार तक बहुत तेज बारिश होने की संभावना है.

भारत मौसम विज्ञान विभाग (IMD) के अनुसार अरब सागर के ऊपर बना दबाव का क्षेत्र अब चक्रवाती तूफान तौकते 18 मई के आस-पास पोरबंदर तथा नलिया के बीच गुजरात तट को पार कर सकता है. जबकि ये चक्रवाती तूफान 16 से 18 मई के बीच अत्यंत भीषण चक्रवाती तूफान के रूप में रहेगा.

IMD के अनुसार चक्रवाती तूफान के अगले कुछ घंटों में ‘अत्यंत भीषण चक्रवाती तूफान’ में बदलने की संभावना है. इसके उत्तर-उत्तर-पश्चिमी दिशा की तरफ बढ़ने और लगभग 18 मई को पोरबंदर तथा नलिया के बीच गुजरात तट को पार करने की उम्मीद है. केंद्र और तटीय राज्यों की सरकारें चक्रवात से निपटने की तैयारी कर रही हैं.

पीएम मोदी ने की बैठक, सेना और वायुसेना अलर्ट

तूफान की संभावना को देखते हुए भारतीय वायुसेना भी सतर्क है. वायुसेना ने 16 ट्रांसपोर्ट एयरक्राफ्ट और 18 हेलिकॉप्टर को उड़ान के लिए तैयार रहने का निर्देश दिया है.
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी शनिवार को दिल्ली में अफसरों के साथ बैठक की है. 5 राज्यों की सरकारें और दिल्ली का पूरा तंत्र तूफान से निपटने की तैयारी में जुटा हुआ है. मछुआरों को समंदर किनारे ना जाने की हिदायत दी जा रही है.

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button