छत्तीसगढ़राष्ट्रीय

छत्तीसगढ़ समेत उत्तर प्रदेश और बिहार में अलर्ट जारी, भारी बारिश की संभावना

नई दिल्ली: उत्तर भारत में मॉनसून के सक्रिय होने में अब कुछ ही समय बचा है। हालांकि यूपी के पश्चिमी हिस्सों में हल्की धूल भरी आंधी और गरज के साथ बौछारें पड़ने से कुछ राहत मिली है लेकिन पूर्वी इलाको में अभी भी आसमान से फुहारें बरसने का इंतजार है।

इस बीच मौसम की भविष्यवाणी करने वाली एक एजेंसी ने उत्तर प्रदेश समेत तीन राज्यों में अगले 12 से 24 घंटों के भीतर मौसम बिगड़ने का अलर्ट जारी किया है। इन तीनों राज्यों में बारिश और गरज के साथ बौछारें पड़ने की संभावना जताई है।

छत्तीसगढ़, यूपी समेत बिहार में अलर्ट

एजेंसी मुताबिक, उत्तर प्रदेश और बिहार में अगले 12 से 18 घंटों के दौरान कई जिलों में कुछ जगहों पर मध्यम बारिश और गरज के साथ हल्की हो सकती हैं। यूपी और बिहार के अलावा छत्तीसगढ़ के मौसम को लेकर भी अलर्ट जारी किया गया है।

छत्तीसगढ़ में अगले 24 घंटों के दौरान कई जिलों में अलग-अलग स्थानों पर भारी बारिश के साथ मध्यम बारिश और गरज के साथ बौछारें पड़ सकती हैं। आपको बता दें कि मौसम विभाग की तरफ से कहा गया है कि उत्तर भारत में जुलाई के पहले सप्ताह तक मॉनसून पूरी तरह सक्रिय हो जाएगा।

धीरे गति से आगे बढ़ रहा मॉनसून

इस साल मॉनसून दक्षिण भारत में लेट पहुंचने की वजह से गर्मी के साथ-साथ भूजल स्तर गिरने से पानी का संकट झेल रहे कई राज्य मॉनसून के इंतजार में बैठे हैं। आमतौर पर मॉनसून इन दिनों देश के दो-तिहाई हिस्से में सक्रिय जाता था लेकिन इस बार मानसून अभी तक केवल 15 से 20 फीसदी हिस्सों में ही प्रभावी हो पाया है। अरब सागर में उठने वाले चक्रवात ‘वायु’ ने मॉनसून की गति का काफी हद तक प्रभावित किया है।

‘वायु’ के कारण मॉनसूनी बादल बेहद धीमी गति से आगे बढ़ रहे हैं। पिछले 12 सालों में ऐसा पहली बार है जब मॉनसून इतनी धीमी गति से आगे बढ़ रहा है। मॉनसून की इस धीमी चाल ने आम लोगों के साथ-साथ सरकार भी चिंता में है।

Tags
Back to top button