अंतर्राष्ट्रीयबिज़नेस

अलीबाबा के सूचीबद्ध किए जाने के कार्यक्रम को अंतिम घड़ी में किया सस्पेंड

अलीबाबा समूह की कंपनी एंट फाइनेंशियल को पांच नवंबर को होना था सूचीबद्ध

नई दिल्ली: चीनी नियामकों ने चीन की ई-वाणिज्य कंपनी अलीबाबा के संस्थापक जैक मा और उसके वरिष्ठ अधिकारियों को सोमवार को बातचीत के लिये तलब किया. उन्हें समूह की अनुषंगी एंट ग्रुप के दुनिया के सबसे बड़े 39.7 अरब डॉलर के आरंभिक सार्वजनिक निर्गम (आईपीओ) आने से ठीक कुछ दिन पहले तलब किया गया.

अलीबाबा समूह की कंपनी एंट फाइनेंशियल को पांच नवंबर को सूचीबद्ध होना था. कंपनी हाल ही में 39.7 अरब डॉलर आईपीओ लेकर आयी थी. शंघाई स्टॉक एक्सचेंज के प्रबंधन बाजार विशेषज्ञों को चौंकाते हुए कंपनी के सूचीबद्ध होने को निलंबित कर दिया.

एक्सचेंज ने नियामकीय बदलावों और सूचीबद्धता से जुड़े नियमों को पूरा करने और पूरी सूचना देने में एंट समूह के विफल रहने का अंदेशा जताते हुए बजार में इसके शेयरों की खरीद-फरोख्त गुरुवार को शुरू किए जाने का कार्यक्रम टाल दिया. लेकिन उसने इसके बारे में ज्यादा जानकारी नहीं दी.

बिजनेस मॉडल और डेटा प्राइवेसी पर मांगा स्पष्टीकरण खबरों के मुताबिक एंट समूह से नियामकों ने उसके कारोबारी मॉडल, वित्तीय नवोन्मेष और उसके मंच की ओर से संग्रह किए जाने वाले उपयोक्ताओं के डेटा की निजता सुरक्षा को लेकर स्पष्टीकरण मांगा है.

संभव है कि कंपनी को उसका कारोबार पुनर्गठित करने के लिए भी कहा जाए. जैक मा के लिये बड़ा झटका सोमवार का दिन कंपनी और उसके संस्थापक जैक मा के लिए मुश्किल भरा रहा. चीन के केंद्रीय बैंक पीपुल्स बैंक ऑफ चाइना, बीमा नियामक चाइना बैंकिंग एंड इंश्योरेंस रेग्युलेटरी कमीशन, शेयर बाजार नियामक सिक्युरिटीज रेग्युलेटरी कमीशन और मुद्रा बाजार नियामक स्टेट एडमिनिस्ट्रेशन ऑफ फॉरेन एक्सचेंज ने सोमवार को एक संयुक्त बयान में कहा कि उन्होंने जैक मा, एंट समूह के चेयरमैन एरिक जिंग और अध्यक्ष हू शिओमिंग के साथ ‘नियामकीय साक्षात्कार’ किए हैं.

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button