अलका लांबा ने किया दावा, ‘आत्म सम्मान’ बचाने के लिये भाजपा में शामिल हुए अनिल

विजय गोयल की मौजूदगी में दिल्ली इकाई के कार्यालय में पार्टी में शामिल हुए

नई दिल्ली: लोकसभा चुनाव से ठीक पहले आप को झटका देते हुए गांधी नगर से उसके विधायक अनिल बाजपेयी शुक्रवार को भाजपा में शामिल हो गए. इस बीच, चांदनी चौक से विधायक अलका ने कहा, ‘आप विधायक ने यह कदम पैसे के लिए नहीं बल्कि आत्म सम्मान के लिए उठाया. आप को निश्चित रूप से इस बारे में सोचना चाहिए.’

इससे पहले अलका लांबा ने अपने एक ट्वीट में कहा, ‘AA Pके एक विधायक की BJPमें जाने की खबर है, बात हुई, बेहद दुःखी और आहत हैं, मैंने समझाया कि हमें यहीं रहकर लड़ना चाहिए, कम से कम जनता के प्रतिनिधि बनकर उनके बीच अपने कामों को तो हम जारी रख ही सकते हैं, पर उन्हें वह बात नही भूलती की उन्हें भारी सभा में गधा कहा गया, उनकी औकात पूछी गई।

बाजपेयी ने कहा कि उन्होंने ‘आप’ इसलिए छोड़ी क्योंकि वह पार्टी के भीतर ‘दुर्व्यवहार और अपमान’ के चलते घुटन महसूस कर रहे थे. उन्होंने दावा किया कि राष्ट्रीय राजधानी में सत्तारूढ़ पार्टी के कई अन्य विधायक भी ऐसा ही महसूस करते हैं.

गौरतलब है कि दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल समेत ‘आप’ नेताओं ने भाजपा पर विधायकों की खरीद फरोख्त में शामिल होने का आरोप लगाया था, इसके कुछ ही समय बाद यह घटनाक्रम सामने आया है. बाजपेयी बीते दो महीनों के दौरान भाजपा में शामिल होने वाले दूसरे कानून-निर्माता हैं. इससे पहले पंजाब से ‘आप’ के निलंबित सांसद हरिन्दर सिंह खालसा मार्च में भाजपा में शामिल हो गए थे.

बाजपेयी भाजपा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष और दिल्ली के प्रभारी श्याम जाजू तथा केंद्रीय मंत्री विजय गोयल की मौजूदगी में यहां दिल्ली इकाई के कार्यालय में पार्टी में शामिल हुए.

Back to top button