देशभर के सभी एयरपोर्ट फिर से चालू, कुछ ही देर में उड़ान भरेंगी फ्लाइट्स

श्रीनगरः भारत और पाकिस्तान के बीच सीमा पर बढ़े तनाव के कारण सीमावर्ती इलाकों तथा पश्चिमोत्तर के अन्य राज्यों में कई हवाईअड्डों पर नागरिक विमानों का बंद किया गया परिचालन फिर से शुरु करने के आदेश दे दिए गए हैं। थोड़ी ही देर में उड़ानों की आवाजाही शुरू की जाएगी। जम्मू से दिल्ली से उड़ाने बहाल कर दी गई हैं। बता दें कि सीमा पर बढ़ते तनाव के बाद कम से कम 11 हवाई अड्डों अमृतसर, श्रीनगर, चंडीगढ़, जम्मू, लेह, पठानकोट, देहरादून, आदमपुर, शिमला, धर्मशाला और कुल्लु में नागरिक विमानों की आवाजाही बंद कर दी गई थीं।

प्राप्त जानकारी के अनुसार इन हवाईअड्डों पर वायु क्षेत्र के नागरिक इस्तेमाल पर तत्कान प्रभाव से प्रतिबंध लगा दिया गया था। सूत्रों के अनुसार पाकिस्तान के हवाई क्षेत्र से होकर भारतीय विमान सेवा कंपनियों के विमान अभी डड़ान नहीं भर रहे हैं।

उरी में तोड़ा सीजफायर

पाकिस्तानी सेना ने जम्मू-कश्मीर के उरी सेक्टर में भारतीय चौकियों पर बुधवार को जबर्दस्त गोलाबारी की। अधिकारियों ने यह जानकारी दी। भारतीय वायु सेना ने मंगलवार को पाकिस्तान में जैश-ए-मोहम्मद के आतंकवादी कैंप पर हवाई हमला किया जिसके बाद पड़ोसी देश ने बुधवार को यह गोलाबारी की। पुलिस के एक अधिकारी ने बताया कि पाकिस्तानी सेना ने बुधवार तड़के भारतीय चौकियों की तरफ गोले दागे।

उन्होंने बताया कि अब तक किसी के भी हताहत होने की खबर नहीं है। अधिकारी ने बताया कि भारतीय सेना ने पाकिस्तान की इस हरकत का बराबरी से जवाब दिया है। साथ ही उन्होंने बताया कि खबर मिलने तक उरी सेक्टर में नियंत्रण रेखा के पास दोनों ओर से गोलीबारी जारी थी।

गोलीबारी में पांच चौकियों को गंभीर नुकसान

एक रक्षा पीआरओ ने कहा कि भारतीय सेना ने जवाबी कार्रवाई की और हमारी लक्षित गोलीबारी में पांच चौकियों को गंभीर नुकसान पहुंचा और (राजौरी और पुंछ जिलों में नियंत्रण रेखा से लगे क्षेत्र में) पाकिस्तानी सेना के कई जवान हताहत हुए। उन्होंने कहा कि शाम साढे छह बजे के बाद पाकिस्तानी सेना ने हताशा के कारण नियंत्रण रेखा पर भारी हथियारों से गोलाबारी करके बिना उकसावे वाला संघर्षविराम उल्लंघन किया।

पाकिस्तानी सैनिकों को ग्रामीणों को मानव कवच के रूप में इस्तेमाल करते हुए आम नागरिकों के घरों से मोर्टार और मिसाइलें दागते हुए भी देखा गया। पीआरओ ने कहा कि हालांकि, भारतीय सेना ने आम नागरिकों की बस्तियों से अलग पाकिस्तानी चौकियों को निशाना बनाया। इसके कारण बड़ी संख्या में पाकिस्तानी सैनिक हताहत हुए। दोनों तरफ से गोलीबारी में भारतीय सेना के पांच सैनिकों को मामूली चोटें आई हैं।

Back to top button