1 मार्च 2021 से खोल दिए जाएंगे सभी सरकारी एवं निजी प्राइमरी स्कूल

च्चों की सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए गाइडलाइंस जारी

पटना:शिक्षा विभाग ने कोरोना से बचाव के लिए स्कूलों के लिए गाइडलाइंस जारी कर बच्चों की सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए 1 मार्च 2021 से बिहार में सभी सरकारी एवं निजी प्राइमरी स्कूल खोल दिए जाने के आदेश दिए है. इन का पालन कराने की जिम्मेदारी जिला अधिकारी को दी गई है.

कोरोना संक्रमण से बचाव के लिए पिछले साल 14 मार्च को बिहार के सभी स्कूलों को बंद कर दिया गया था. राज्य में कक्षा 1 से 5 तक की पढ़ाई वाले करीब 1 लाख विद्यालयों में से 72 हजार सरकारी स्कूल हैं. इन सभी 72 हजार स्कूलों में क्लास 1 से 5 तक में कुल 1 करोड़ 6 लाख 19 हजार 670 बच्चे रजिस्टर्ड हैं.

अल्पसंख्यक और सरकार से अनुदान प्राप्त 108 विद्यालय हैं. प्रदेश में 1100 मदरसों के अलावा संस्कृत विद्यालयों में भी कक्षा 1 से 5 तक की पढ़ाई होती है. इन सभी विद्यालयों में कोविड-19 संबंधी गाइडलाइन का पालन करने के सख्त निर्देश दिए गए हैं. सरकार ने स्कूल में बच्चों के रेंडम टेस्ट कराने के आदेश भी दे दिए हैं.

शिक्षा विभाग द्वारा जारी गाइडलाइंस पढ़ें- बच्चों, शिक्षकों एवं कर्मियों को मास्क पहनना अनिवार्य होगा. कक्षा में छात्रों को 5 फीट की शारीरिक दूरी पर बैठाना होगा. ज्यादा छात्र वाले स्कूलों को दो पाली में खोला जाएगा. शिक्षकों व कर्मियों की 100% अटेंडेंस उपस्थिति अनिवार्य होगी.

विद्यालय शिक्षा समिति को सरकारी विद्यालय में साफ-सफाई, साबुन, डिजिटल थर्मामीटर, सैनेटाइजर, बच्चों के लिए मास्क का इंतजाम करना होगा. टीचर्स को स्टाफ रूम, ऑफिस और विजिटर्स रूम में भी कम से कम 6 फीट की दूरी की व्यवस्था की जाएगी.

स्कूलों में प्रवेश के लिए अलग-अलग कक्षाओं के लिए अलग-अलग समय निर्धारित होगा. स्कूलों में किसी प्रकार के त्योहार या समारोह के आयोजन नहीं होंगे. पैरंट टीचर मीटिंग भी वर्चुअल मोड में होगी.

Tags
cg dpr advertisement cg dpr advertisement cg dpr advertisement
cg dpr advertisement cg dpr advertisement cg dpr advertisement

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button