ऑल इंडिया डेमोक्रेटिक स्टूडेंट्स ऑर्गेनाइजेशन इन मांगो को लेकर रायपुर में धरना व प्रदर्शन

सुनीता व ख्याति ने बात रखते हुए कहा कि आज भी छात्राओं पर अपराध बढ़ते जा रहे हैं दिनदहाड़े छात्राओं के साथ बलात्कार की घटनाएं सामने आ रही हैं जो कि राज्य की सुरक्षा व्यवस्था के लिए शर्मनाक है।

रायपुर : आज 30 नवंबर 2021 को हमारे क्रांतिकारी छात्र संगठन ऑल इंडिया डेमोक्रेटिक स्टूडेंट्स ऑर्गेनाइजेशन (AIDSO) की छत्तीसगढ़ राज्य कमेटी की ओर से राज्य में छात्राओं को सुरक्षा देने, कॉलेजों में सभी छात्रों को प्रवेश देने, सभी छात्रों के लिए पर्याप्त संख्या में हॉस्टल खोलने, अधिक से अधिक सरकारी स्कूल- कॉलेज खोलने, शिक्षा का निजीकरण, व्यापारीकारण, सांप्रदायिककरण व केंद्रीकरण बंद करने, नई राष्ट्रीय शिक्षा नीति 2020 रद्द करने,

बेतहाशा फीस वृद्धि बंद करने, कक्षा पहली से आठवीं तक पास फेल प्रणाली पुनः लागू करने, सभी सरकारी स्कूल कॉलेजों में पर्याप्त संख्या में शिक्षकों व प्राध्यापकों की नियुक्ति करने, सभी सरकारी स्कूल कॉलेजों में पर्याप्त मूलभूत सुविधाएं देने, जनभागीदारी समिति के नाम से छात्रों को लूटना बंद करने व स्ववित्तीय कोर्स के नाम पर छात्रों को लूटना बंद करने की मांग को लेकर बूढा तालाब रायपुर में धरना व प्रदर्शन कर मुख्यमंत्री, उच्च शिक्षा मंत्री व स्कूल शिक्षा मंत्री के नाम डिप्टी कलेक्टर डॉ प्रियंका शर्मा को ज्ञापन सौपा गया।

ऑल इंडिया डीएसओ

इस धरना प्रदर्शन में ऑल इंडिया डीएसओ के राज्य अध्यक्ष जतिन साहू ने अपने वक्तव्य में बताया कि आजादी के समय में धर्मनिरपेक्ष वैज्ञानिक व जनवादी शिक्षा की जो मांग उठी थी उसे आजादी के बाद पूरा हो जाना चाहिए था लेकिन हम देख रहे हैं आज शिक्षा समस्याएं तेजी से बढ़ती जा रही है। यह दुर्भाग्य की बात है कि छात्रों को मूलभूत मांगों के लिए भी सड़कों पर उतरना पड़ रहा है। सुनीता व ख्याति ने बात रखते हुए कहा कि आज भी छात्राओं पर अपराध बढ़ते जा रहे हैं दिनदहाड़े छात्राओं के साथ बलात्कार की घटनाएं सामने आ रही हैं जो कि राज्य की सुरक्षा व्यवस्था के लिए शर्मनाक है।

इन अपराधियों के प्रति सरकार का जो रवैया देखा जा रहा है उससे अपराधों में और भी बढ़ोतरी हो रही है। राज्य के नेताओ शुभम पांडेय ,प्रवीण शर्मा ,बृजलाल दीवान ,संतु खटवा ,जैनपाल ,डारेंद्र साहू , भूपेश साहू ,राज्यसचिव परमानंद साहू ने शिक्षा समस्याओं पर गहराई से बात रखी । शोसलिस्ट यूनिटी सेंटर ऑफ इंडिया ( कम्युनिस्ट ) के राज्य सचिव विश्वजीत हारोडे ने भी बात रखते हुए बताया कि हमारे राज्य के साथ-साथ पूरे देश की स्थिति चिंतनीय है न केंद्र और न ही राज्य सरकारें छात्रों की समस्याओं पर चिंतित है ।

सभी सरकारे पूंजीपतियों के हित मे ही नीतियां बना रही है जिससे समस्याएं तेजी से बढ़ रही है ।किसान आंदोलन ने दिखा दिया कि जनांदोलन से जीत हासिल होती है । शिक्षा समस्याओं के खिलाफ छात्रों के पास आंदोलन के अलावा और कोई दूसरा रास्ता नहीं बचा है। धरना पश्चात छात्रों ने सड़क किनारे खड़े होकर जोरदार नारा लगाते हुए हाथों में तख्तियां लिए प्रदर्शन किया । इस धरना प्रदर्शन में दुर्ग धमतरी रायपुर बिलासपुर गरियाबंद मुंगेली आदि जिलों के सैकड़ो छात्र-छात्राएं एकत्रित हुए।

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button