नीरव मोदी के प्रत्यर्पण के लिए ब्रिटेन को हर जरूरी सहायता उपलब्ध : सीबीआई

लंदन में ही पनाह लेने की जुगत में नीरव मोदी

नई दिल्ली: पंजाब नेशनल बैंक में 13 हजार करोड़ रुपये की धोखाधड़ी करने के मामले में आरोपी भगोड़ा हीरा कारोबारी नीरव मोदी को लंदन की सड़कों पर देखा गया. भगोड़ा कारोबारी लंदन में ऐश से रह रहा है. और लंदन में ही पनाह लेने की जुगत में है.

वहीं केन्द्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) ने एजेंसी ब्रिटेन के अधिकारियों को भगोड़े हीरा कारोबारी नीरव मोदी के प्रत्यर्पण के लिए हर जरूरी सहायता उपलब्ध करने का दावा किया है. जिसके कि पंजाब नेशनल बैंक में घोटाले बाज नीरव मोदी पर कार्यवाही हो सके.

अनुरोध के जवाब का इंतजार

एजेंसी के प्रवक्ता नितिन वाकणकर ने बताया कि सीबीआई उस प्रत्यर्पण अनुरोध के जवाब का इंतजार कर रही है जिसे पिछले वर्ष अगस्त में विदेश मंत्रालय के माध्यम से ब्रिटेन को भेजा गया था. लंदन से इस बात की पुष्टि हुई थी कि नीरव मोदी उनके देश में है और इसके बाद ही इस अनुरोध को भेजा गया था.

उन्होंने बताया कि ब्रिटेन ने पिछले साल जून में नीरव मोदी के खिलाफ एजेंसी द्वारा जारी किए गए रेड कॉर्नर नोटिस का जवाब दिया है. वाकणकर ने कहा,‘हम नीरव मोदी का प्रत्यर्पण सुनिश्चित कराने में विदेश मंत्रालय के माध्यम से ब्रिटेन को हर संभव सहायता देने के लिए तैयार हैं.

ब्रिटेन के एक अखबार ‘टेलीग्राफ’ ने अपनी खबर में दावा किया है कि नीरव मोदी लंदन में एक आलीशान अपार्टमेंट में रहता है और वहां की सड़कों पर घूमता है. अखबार की ओर से जारी एक वीडियो में दिख रहा है कि रिपोर्टर के सवालों पर नीरव ने बार-बार कहा कि ‘नो कमेंट’.

सीबीआई ने बैंक की ओर से उसके और उसके रिश्तेदार चोकसी के खिलाफ दर्ज कराई गई शिकायत के आधार पर प्राथमिकी दर्ज की थी. प्राथमिकी में नीरव मोदी के भाई और पत्नी के नाम भी आरोपी के रूप में दर्ज है.

एजेंसी ने घोटाले में नीरव मोदी और चोकसी दोनों के खिलाफ अलग-अलग आरोप पत्र दाखिल किया है. नीरव मोदी की पत्नी एमी, एक अमेरिकी नागरिक, भाई निशाल और चोकसी भी पिछले वर्ष जनवरी के पहले सप्ताह में देश से भाग गये थे.

Back to top button