राज्य

हरियाणा में सभी स्कूल 30 नवंबर तक बंद, छात्रों के पॉजिटिव मिलने के बाद बड़ा फैसला

फैसले का उल्लघंन होने पर स्कूल प्रमुख जिम्मेदार होंगे।

हरियाणा के सरकारी स्कूलों में लगातार छात्रों के कोरोना पॉजिटिव मिलने के बाद सरकार ने 30 नवंबर तक राज्य के सभी स्कूलों को बंद करने का फैसला लिया है। राज्य में कोरोना के बढ़ते मामले और छात्रों के स्वास्थ्य चिंताओं को ध्यान में रखते हुए हरियाणा विद्यालय शिक्षा बोर्ड ने सभी निजी और सरकारी स्कूलों को दो हफ्ते बंद रखने का फैसला लिया है। 30 नवंबर तक स्कूलों में छात्रों के अलावा अध्यापकों के भी आने पर मनाही रहेगी। इस दौरान सभी स्कूल परिसरों के अच्छे से सैनिटाइज किया जाएगा। फैसले का उल्लघंन होने पर स्कूल प्रमुख जिम्मेदार होंगे।

लगातार हरियाणा के स्कूलों में संक्रमित मिल रहे हैं बच्चे

कोरोना संक्रमण की दूसरी लहर पहली की तुलना में अधिक घातक साबित हो रही है। हिसार और रोहतक मंडल के पांच जिलों में 47 बच्चों और 11 शिक्षकों की रिपोर्ट पॉजिटिव आई। कोरोना के बढ़ते संक्रमण ने अभिभावकों की चिंता बढ़ा दी है। जींद जिले में गुरुवार को सबसे अधिक 20 विद्यार्थी और दो शिक्षक संक्रमित मिले। वहीं रोहतक जिले में 10 विद्यार्थी और चार शिक्षक भी कोरोना संक्रमित मिले थे। 
उधर, हिसार जिले में आठ बच्चे और पांच अध्यापक कोरोना की चपेट में आ गए। तमाम उपायों के बावजूद जिले में बीते तीन दिनों में 35 विद्यार्थी और 21 शिक्षक संक्रमित हो चुके हैं। झज्जर जिले में सात विद्यार्थी पॉजिटिव मिले। रेवाड़ी में दो बच्चे संक्रमित मिले थे। रेवाड़ी जिले में अब तक 98 छात्र पॉजिटिव मिल चुके हैं। ज्यादातर संक्रमित बच्चों में कोरोना के लक्षण नहीं दिख रहे हैं।

विपक्ष ने सरकार को घेरा

हरियाणा के पूर्व मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्डा ने कहा कि कोरोना काल में बिना तमाम जरूरी एहतियात बरते स्कूल खोलने को लेकर सरकार ने जल्दबाजी दिखाई है। इसी का नतीजा है कि सैकड़ों बच्चे संक्रमण की चपेट में आ गए और स्कूल स्टाफ भी कोरोना पॉजिटिव हो गया। कोरोना को लेकर पहले एहतियाती कदम उठाने चाहिए थे और उसके बाद ही स्कूल खोले जाने चाहिए थे। 

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button